Advertisement

हर घर तिरंगा अभियान पर निबंध har ghar tiranga abhiyan essay in hindi

‘हर घर तिरंगा’ अभियान पर निबंध 100 शब्दों में

‘हर घर तिरंगा’ भारत सरकार की ओर से मनाया जाने वाला एक अभियान है । जो स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में रखा गया है। इस पूरे सप्ताह को भारत सरकार ने अमृत महोत्सव के रूप में मनाए जाने का आह्वान किया है |

Advertisement

‘ हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत प्रत्येक भारतवासी अपने घर या कार्यालय में झंडा फहराएंगे, जिसमें 200 करोड़ घरों पर झंडा फहराने का लक्ष्य रखा गया है। झंडे की आपूर्ति करने के लिए सरकार ने झंडा उत्पादन बढ़ा दिया है जिसमें खादी के झंडे को प्राथमिकता दी गई है। डाकघरों में राष्ट्रीय झंडे की उपलब्धता रखी जाएगी |

‘हर घर तिरंगा’ का उद्देश्य प्रत्येक नागरिक के हृदय में तिरंगे का सम्मान और प्रेम भाव उत्पन्न करना है | इस अभियान में धव्जरोहण के साथ साथ कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा, जिसमें विधालयों में सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रितियोगितायें आदि प्रमुख हैं |

Advertisement

इस अभियान को सफल बनाने के लिए सरकार ने ऑनलाइन व्यवस्था भी शुरू की है | जहाँ पर आप पंजीकरण करा सकते हैं |अपनी तस्वीर तिरंगे के साथ एप्प पर अपलोड करके प्रमाण पत्र प्राप्त किया जा सकता है |

har ghar tiranga abhiyan par nibandh

Advertisement

‘हर घर तिरंगा’ अभियान पर निबंध 200 शब्दों में

‘हर घर तिरंगा’ भारत में मनाया जाने वाला एक अभियान स्वरूप महापर्व है | जिसे प्रत्येक राष्ट्रवासी बड़े ही उत्साह और उमंग से मानाने के लिए तैयारी में जुटें हुए हैं |इस अभियान को भारत की आज़ादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर ,75 वी वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मनाया जायेगा |

15 अगस्त 1947 को हमें अंग्रेजों के कुशासन और गुलामी से स्वतंत्रता मिली थी। इस वर्ष 15 अगस्त 2022 को हम स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इस वर्षगांठ के उपलक्ष्य में भारत सरकार ने इसे यादगार बनाने के लिए इस सप्ताह को ‘अमृत महोत्सव’ का नाम दिया ।

साथ ही साथ 13 से 15 अगस्त को हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें 200 करोड़ घरों में तिरंगा फहराने की मुहिम रखी गई है | भारत सरकार की ओर से 200 करोड़ घरों की भागीदारी का आह्वान किया जा रहा है |

Advertisement

हर घर तिरंगा अभियान के लिए सरकार ने जोरों से प्रयास शुरू कर दिए हैं। जिस में राष्ट्रीय ध्वज से संबंधित गाइडलाइन के द्वारा सभी नागरिकों को नियम बताए गए हैं| सरकारी और गेरसरकारी सभी स्थलों पर ध्वजारोहण किय जायेगा |

सरकार ने ध्वज आपूर्ति के लिए डाकघरों में राष्ट्रीय ध्वज उपलब्ध करवाए हैं | अवकाश के दिनों में भी डाकघर खोले जायेंगे | यह अभियान देशवासियों में , देश के प्रति सम्मान की भावना उत्पन्न करने में सहयोग देगा |

सभी देश वासियों के हृदय में स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति सम्मान और श्रद्धा भाव उत्पन्न हो सकेगा | इस अभियान को सफल बनाने के लिए सरकर ने ऑनलाइन एप्प व्यवस्था भी की है , जहाँ झंडे के साथ फोटो अपलोड करके अपना प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं|

हर घर तिरंगा अभियान पर निबंध 400 से 500 शब्दों में

हर-घर तिरंगा भारत में मनाया जाने वाला एक अभियन स्वरूप महापर्व है | जिसे प्रत्येक राष्ट्रवासी बड़े ही उत्साह और उमंग से मनाने के लिए तैयारी में जुटे हुए हैं | इस अभियान को भारत की आजादी के 75 वर्ष पूरे करने पर आज़ादी की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मनाया जा रहा है | 13-15 अगस्त को 200 करोड़ राष्ट्रवासियों के द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्य रखा गया है |

• ‘हर-घर तिरंगा’ अभियान का उद्देश्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए इस आन्दोलन की अपील केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने भी की है | इस आंदोलन के पीछे भारतीयों में गर्व के साथ ध्वजारोहण कराना है| अधिकाधिक लोगों के द्वारा धव्जरोहण कराकर, अपने तिरंगे तथा राष्ट्र के प्रति गर्व का अनुभव कराना है |
राष्ट्र के प्रति सम्मान की भावना को बढ़ाना है | स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति सम्मान और प्रेम उत्पन्न करना है | क्योंकि इस तिरंगे की शान के लिए ही स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राण गँवा कर हमें आजादी दिलाई थी | पूरे विश्व में भारतीय ध्वज के सम्मान में वृद्धि करना भी इसका एक उद्देश्य है |

Advertisement

इस आंदोलन को मजबूत बनाने के लिए प्रधानमंत्री ने अपने ट्विटर पर भी अपील की है | “इस साल जब हम आज़ादी का ‘अमृत महोत्सव’ मना रहे हैं , तो क्यों ना हम हर घर पर तिरंगा फहराकर इस आंदोलन को मजबूत करें। 13 से 15 अगस्त के बीच तिरंगा फहराकर , यह अभियान राष्ट्रीय ध्वज के साथ हमारे सम्बन्ध को गहरा करेगा” |

• इस अभियान को सफल बनाने के लिए किए जाने वाले महत्वपूर्ण कार्य

इस अभियान के तहत, भारत सरकार की घोषणा के बाद से ही कुछ महत्वपूर्ण कार्य शुरू कर दिए थे | तिरंगा वितरण तथा तिरंगे की सिलाई के निर्देश दे दिए गए हैं ,जिसमें खादी के तिरंगे को प्रमुखता दी गई हैं |

Advertisement

जनता में इस अभियान के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के लिए एन एस एस, एन सी सी, तथा एन जी ओ आदि की सहायता ली जाएगी | ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत स्तर पर कार्य कराया जाएगा तथा नगरों में नगर परिषदीय स्तर पर कार्य किया जाएगा |

इसके लिए सरकार ने ऑनलाइन व्यवस्था भी रखी है, जिसमें पंजीकरण कराया जा सकता है | कोई भी भारतवासी अपनी फोटो तिरंगे के साथ इस ऐप पर जाकर अपलोड कर सकते हैं और उसके बाद एक प्रमाण पत्र भी प्राप्त कर सकते हैं। प्रधानमंत्री ने इस अभियान के तहत अपनी सोशल मीडिया प्रोफाइल पर तिरंगा लगाने की अपील की है।

• तिरंगा फहराना आवश्यक क्यों ?

तिरंगा भारतीय सम्मान का प्रतीक है | ध्वजारोहण प्रत्येक भारतीय नागरिक का अधिकार है | संविधान के अनुच्छेद 51 A (a) में इसका प्रावधान दिया गया है | इसी अनुच्छेद में स्पष्ट किया गया है कि भारतीय ध्वज , तथा राष्ट्रगान का सम्मान करना प्रत्येक भारतवासी का मौलिक कर्तव्य है | अपने अधिकार और कर्तव्य को पूरा करते हुए भारत के लगभग 200 करोड़ लोग इस आंदोलन में भाग लेकर इसे सफल बनाएंगे |

• ध्वजारोहण से संबंधित नियम तथा दिशा निर्देश

  1. 13 से 15 अगस्त तक दिन और रात में ध्वजारोहण कर सकते हैं।
  2. खादी के ध्वज के साथ-साथ मशीन से बने हुए तथा पॉलिस्टर से बने ध्वजों का प्रयोग किया जा सकता है | प्राथमिकता खादी के तिरंगे को ही दी गई है |
  3. राष्ट्रीय ध्वज को वस्त्रों के रूप में प्रयोग नहीं किया जा सकता है |
  4. राष्ट्रीय ध्वज झुका हुआ , जमीन से लगा हुआ या पानी में भीगा हुआ नहीं होना चाहिए |
  5. राष्ट्रीय ध्वज मैला और फटा नहीं होना चाहिए |
  6. काग़ज़ से बने राष्ट्रीय ध्वज का प्रयोग किया जा सकता है |
  7. राष्ट्रीय ध्वज का प्रयोग किसी मूर्ति ,इमारत ,और वाहन को ढकने के लिए नहीं किया जा सकता है।

• ध्वजारोहण के नियमों का पालन आवश्यक क्यों?

तिरंगे का अपमान करने पर किसी भी नागरिक को 3 वर्ष की सज़ा, जुर्माना या दोनों दी जा सकती है | इसलिए आवश्यक है की ध्वजारोहण ध्यान पूर्वक किया जाए |

तिरंगे को सार्वजनिक स्थानों पर जलाने या फाड़ने वालों को अपराधी माना जाएगा | कागज के तिरंगों को भी सम्माननीय ढंग से डिस्पोजल किया जाना चाहिए |

Advertisement

Leave a Reply