Advertisements

दिल्ली की 5 सबसे भूतिया जगहें, जहाँ रात में जाने पर आपकी रूह काँप जाएगी

दोस्तों दिल्ली और उसके आस पास के इलाके भूतिया जगहों से भरे पड़े हैं. कहीं से आवाज़ें आती हैं तो कहीं रात में आत्माओं को भटकते हुए देखा जाता है. आइये जानते हैं दिल्ली की पांच सबसे खौफनाक जगहें जहां जाने की हिम्मत कोई नहीं जुटा पाता. 
 

5. दिल्ली कंटोनमेंट

delhi cant 2

Advertisements
 
दिल्ली कैंट की स्थापना ब्रिटिश – इंडियन आर्मी ने की थी।  लोग कहते है की आधी रात के समय दिल्ली केंट में सफेद लिबाज पहने एक महिला लोगों से लिफ्ट मांगती नज़र आती है। बहुत से लोगो ने उसे  देखा भी है। लेकिन आज तक किसी इंसान को नुक्सान पहुचाने की कोई खबर नहीं मिली है। बुजुर्गों का कहना है कि यदि कभी कभी आपको एक महिला लिफ्ट मांगते हुए दिखे तो अपने वाहन को कभी न रोके.
 

4. म्यूटिनी हाउस 

mutniy 3

 
कश्मीरी गेट के पास म्यूटिनी हाउस का निर्माण अंग्रेजो ने 1857 में मारे गए अपने सिपाहियों की याद में बनवाया था।
रात के अँधेरे में यहाँ का माहौल बेहद डरावना हो जाता है. कहा जाता है कि सैनिकों की आत्माएं अभी भी इस भवन में भटकती हैं. कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने यहाँ पर आधे अधूरे शरीर के साथ घुमते हुए लोगों को देखा है.  
 

3. भूली भटियारिन का महल 

bhuli mahal 3

Advertisements
 
यह महल किसी ज़माने में तुगलक वंश का शिकारगाह हुआ करता था। जिसकी देखभाल एक महिला करती थी और उसका नाम था भूली भटियारन. 
उसी महिला के नाम पर उस जमाने के लोगों ने इस महल को भूली भटियारन का महल कहना शुरू कर दिया .  अंधेरा होना के बाद यहां परिंदा भी पर नहीं मारता। आस पास रहने वाले बताते हैं कि अक्सर इस महल से अजीबोगरीब चीखें सुनाई देती हैं. 

2. खुनी नदी 

khuni nadi

कहा जाता है कि इस नदी का पानी आपको अपनी तरफ खींचता है. पानी में जाने वालों को यह नदी निगल लेती है इसी वजह से नदी के आसपास कोई नहीं जाता है। रोहिणी के कम शोर गुल वाले इस इलाके में यूं भी कम लोग आते हैं। कारण, नदी के किनारे लाशों का मिलना। हत्या, आत्महत्या, दुर्घटना कारण चाहे जो हो, यहां नदी किनारे लाशें मिलना आम बात हो गई है। यही कारण है कि लोग इसे खुनी नदी के नाम से जानते हैं.
 

1. जमाली कमाली की कब्रगाह 

jammali

Advertisements
 
यहाँ एक मस्जिद भी है जो दिल्ली के महरौली में स्थित है। सूफी संत जमाली लोधी हुकूमत के राज कवि थे। इसके बाद बाबर और उनके बेटे हुमायूं के राज तक जमाली को काफी तवज्जो दी गई। मकबरे में दो संगमरमर की कब्र हैं, एक जमाली की और दूसरी कमाली की।  इस जगह के बारे में लोगों का विश्वास है कि यहां जिन्न रहते हैं। कई लोगों को यहाँ बेहद डरावने अनुभव हुए हैं। माना जाता है कि यहां रात में तेज हवाएं चलती हैं. तथा लोगों को किसी अंजनी शक्ति से थप्पड़ भी लगते हैं.
Advertisements
Advertisements