मदरसे की परीक्षा में एक हिन्दू लड़की ने बनाई टॉप 10 में जगह

खलतपुर: पश्चिम बंगाल के खलतपुर में हाई मदरसा की प्रशामा साशमल ने मदरसा के माध्यमिक स्कूल की परीक्षा में आठवां स्थान प्राप्त किया है. ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी हिन्दू लड़की ने राज्य में मान्यता प्राप्त मदरसा परीक्षा में टॉप 10 में जगह बनाई हो.

madarsa girl

इस मंगलवार हो परीक्षा के नतीजों की घोषणा हुई. जिसमे प्रशामा ने आठवां स्थान प्राप्त किया. प्रशामा हावड़ा के धौलागिरी इलाके से हैं जो हाल में सांप्रदायिक हिंसा की ख़बरों की वजह से सुर्खियों में आया था.

राज्य से मान्यता प्राप्त मदरसों में छात्रों को अंग्रेज़ी, विज्ञान, गणित जैसे विषयों के साथ अरबी और ‘इस्लाम का परिचय’ भी पढ़ाया जाता है.

‘इस्लाम का परिचय’ विषय में प्रशामा ने 97 अंक प्राप्त किया हैं. हालाँकि प्रशामा भौतिक शास्त्र में आगे शोध करना चाहती हैं.
प्रशामा के साथ पढ़ने वाले उनकी सहेली ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है और इस परीक्षा में वह १७वे स्थान पर रही हैं.

मीडिया से बात करते हुए प्रशामा ने बताया “स्कूल में हिंदू और मुसलमान टीचर हैं और वो हमारा ख़्याल रखते हैं. मेरी कक्षा में हिंदू-मुसलमान सभी मेरे दोस्त हैं. हम आपस में खाना बांटते हैं और दोस्तों की ही तरह बातें करते हैं. हमारे बीच में कभी धर्म नहीं आया.”

पश्चिम बंगाल के सरकारी मान्यता प्राप्त मदरसों में हर धर्म के बच्चे पढ़ते हैं. मदरसे के प्रधानाध्यापक नूरुलइस्लाम बताते हैं “इस साल कुल 33 बच्चों ने मदरसा परीक्षा दी जिसमें ले नौ ग़ैर-मुसलमान हैं. उनमें से दो ने टॉप 20 में जगह बनाई.”

वामपंथी दलों के कार्यकाल के दौरान पश्चिम बंगाल में मदरसों में बड़े बदलाव किए गए थे.