जोड़ों के दर्द के इलाज के घरेलू नुस्खे (Home remedy for joint pain relief)

जोड़ों के दर्द के इलाज के घरेलू नुस्खे (Home remedy for joint pain relief)

उम्र बढ़ने के साथ जो स्वास्थ्य संबंधी समस्या हमें सबसे ज़्यादा होती हैं उनमें से एक है जोड़ों में होने वाला दर्द. पचास साल की उम्र तक आते आते अधिकांश व्यक्ति जोड़ों के दर्द से परेशान होने लगते हैं. ख़ासकर महिलाएँ जोड़ों के दर्द से ज़्यादा ग्रस्त होती हैं. यहाँ तक की कुछ मामलों में तो जोड़ों का दर्द इतना बढ़ जाता है कि उठना बैठना भी मुश्किल हो जाता है. विशेषकर घुटनों के जोड़ का दर्द सबसे ज़्यादा पीड़ा देने वाला होता है और  रोगी को सामान्य जीवन बिताना संभव नहीं रहता.

Home remedy for joint pain reliefजोड़ों का दर्द बहुत तकलीफदेह हो सकता है। जोड़ों की बीमारियों से दर्द और चलने-फिरने में परेशानी हो सकती है। इनमें से कुछ समस्याओं के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है। लेकिन ज्यादातर जोड़ों के दर्द में राहत के लिए आप इन उपायों का अपना सकते हैं।

मसाज थैरेपी : (Home remedy for joint pain relief) मसाज थैरेपी जोड़ों के दर्द के लिए एक आसान उपाय है। इससे जोड़ों के दर्द में जल्द राहत मिलती है। मसाज थैरेपी के जरिए रक्त संचार शरीर में ठीक होता है और जोड़ों का सूजन कम हो जाता है। आप इसे घर पर किसी फिजियो-थैरेपिस्ट की मदद से कर सकते है। फिजियो-थैरेपिस्ट से इसे सीखने के बाद आप इसे घर पर भी कर सकते है। सरसो, जैतून और नारियल तेल के मसाज से जोड़ों के दर्द में काफी आराम मिलता है।

आइस थैरेपी: जोड़ों के दर्द में निजात के लिए बर्फ थैरेपी से भी राहत मिलती है। 15 से 20 मिनट तक की एक दिन में कुछ बार यह थैरेपी जोड़ों के दर्द में काफी राहत देती है। यह जोड़ों के दर्द को कम करने के साथ सूजन भी कम करने में मददगार होती है।

हीट थैरेपी: प्रभावित जोड़ों के दर्द पर तीन मिनट की हीट थैरेपी काफी असरदार हो सकती है। हीट थैरेपी से सूजन जल्द कम होता है और जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है। हीट थैरेपी किसी हॉट बैग या तौलियां के जरिए ही लिया जाना चाहिए। डायरेक्ट हीट थैरेपी से नुकसान हो सकता है।

दवाईयां: जोड़ों के दर्द के उपचार के लिए आप डॉक्टर की सलाह लेकर कुछ दवाइयों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

आराम: जोड़ों में दर्द होने की स्थिति में आराम करने से भी इससे मुक्ति मिल सकती है। आराम करने से हमारे जोड़ों और मांसपेशियों को आराम मिलता है लिहाजा दर्द जल्द ठीक होने की संभावना बढ़ जाती है।