Advertisements

वाराणसी के बारे में 20 रोचक तथ्य जानकारी Interesting Facts about Varanasi GK in Hindi

Interesting Facts about Varanasi in Hindi

इस पोस्ट में हम आपके लिए वाराणसी से संबन्धित रोचक जानकारी लेकर आए हैं जिसके बाद आप वाराणसी के बारे में 5 line, वाराणसी के बारे में 10 line, वाराणसी के बारे में 5 वाक्य, वाराणसी के बारे में बताइये आदि प्रश्नों का उत्तर आसानी से लिख पाएंगे।

Varanasi FAQ in Hindi

प्रश्न : वाराणसी कहाँ स्थित है ?
उत्तर : वाराणसी भारत देश के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है ।

Advertisements

प्रश्न : वाराणसी को और किन नामों से भी जाना जाता है ?
उत्तर : वाराणसी को बनारस और काशी नामों से भी जाना जाता है । इसके अलावा वाराणसी को भगवान् शिव की नगरी, मंदिरों का शहर, भारत की धार्मिक राजधानी, ज्ञान नगरी और दीपों का शहर नाम से भी जाना जाता है ।

प्रश्न : वाराणसी का असली नाम क्या है ?
उत्तर : वाराणसी का असली नाम काशी है । पौराणिक कथाओं के अनुसार काशी की स्थापना भगवान शिव ने लगभग 5000 वर्ष पूर्व की थी ।

Advertisements

प्रश्न : वाराणसी नाम की उत्पत्ति कैसे हुई ?
उत्तर : कुछ इतिहासकारों के अनुसार वाराणसी शब्द दो शब्दों से मिल कर बना है, वरुणा नदी और असि नदी । इन दो नदियों पर इस नगर की स्थिति होने से इसका नाम वाराणसी पड़ा ।

प्रश्न : वाराणसी किस प्रकार का नगर है ?
उत्तर : वाराणसी एक धार्मिक नगर है । इसे हुन्दुओं का सबसे बड़ा तीर्थ माना जाता है । हिन्दू, बौद्ध एवं जैन धर्मों में वाराणसीको महत्वपूर्ण स्थानों में माना जाता है ।

Advertisements

प्रश्न : वाराणसी में कौन-कौन से मंदिर हैं ?
उत्तर : वाराणसी में काशी विश्वनाथ, मृत्युंजय महादेव मंदिर, विश्वनाथ मंदिर, कालभैरव मंदिर, संकटमोचन मंदिर, माँ अन्नपूर्णा मंदिर, संकठा मंदिर, तुलसी मानस मंदिर, दुर्गा मंदिर और भारत माता मंदिर जैसे प्रसिद्ध मंदिर हैं ।

प्रश्न : वाराणसी के प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर की स्थापना किसने और कब की थी ?
उत्तर : प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर की स्थापना महारानी अहिल्या बाई होलकर द्वारा सन 1780 में की गई थी ।

प्रश्न : वाराणसी (काशी) में राज करने वाली प्रथम रानी कौन थीं ?
उत्तर : वाराणसी (काशी) में राज करने वाली प्रथम रानी उत्पल वंश की रानी दिद्दा थीं ।

प्रश्न : वाराणसी में कौन सी नदी बहती है ?
उत्तर : वाराणसी में बहने वाली मुख्य नदी गंगा है । इसके अलावा यहाँ बानगंगा, गोमती, वरुणा, गड़ई, चंद्रप्रभा, सरम्नासा आदि नदियाँ भी बहती हैं ।

Advertisements

प्रश्न : वाराणसी में कितने घाट हैं ?
उत्तर : वाराणसी शहर में कुल 88 घाट हैं जिनमें से 2 घाटों का उपयोग शमशान स्थल के लिए किया जाता है जबकि बाकी के घाटों में स्नान और पूजा आदि के कार्य किये जाते हैं ।

प्रश्न : वाराणसी में किस प्रकार के उद्योग हैं ?
उत्तर : वाराणसी में बनारसी रेशमी साड़ी, कपड़ा उद्योग, हस्तशिल्प और कालीन उद्योग मुख्य रूप से हैं ।

प्रश्न : बनारस की कौन-कौन सी वस्तुएं प्रसिद्ध हैं ?
उत्तर : बनारसी साड़ी, कालीन और हस्तशिल्प के अलावा यहाँ का बनारसी पान और कलाकंद बहुत प्रसिद्ध हैं । वाराणसी अपने घाट और मंदिरों के लिए भी बहुत प्रसिद्ध है ।

प्रश्न : वाराणसी में खरीददारी के लिए कौन से बाज़ार मुख्य हैं ?
उत्तर : वाराणसी में खरीददारी के लिए गोदौलिया, चौक, लहुराबीर, विश्वनाथ गली और ठठेरी बाजार प्रसिद्ध हैं ?

प्रश्न : वाराणसी में कौन-कौन सी जनजाति पाई जाती हैं ?
उत्तर : वाराणसी में ओझा, नायक, गोंड, राजगोंड, धुरिया, पथारी और खरवार जनजातियाँ पाई जाती हैं ।

प्रश्न : वाराणसी के लोग कौन सी बोली बोली जाती है ?
उत्तर : वाराणसी में रहने वाले काशिका भोजपुरी, हिंदी और उर्दू बोलते हैं ।

प्रश्न : वाराणसी का हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत से क्या सम्बन्ध है ?
उत्तर : हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत का बनारस घराना यहीं की देन है ।

प्रश्न : वाराणसी का भारतीय कवि, लेखक, संगीतज्ञों और दार्शनिकों से क्या सम्बन्ध है ?
उत्तर : वाराणसी से कई महान हस्तियों का सम्बन्ध रहा है जिनमें मुंशी प्रेमचंद, जयशंकर प्रसाद, कबीर, वल्लभाचार्य, रविदास, शिवानन्द गोस्वामी, त्रेलंग स्वामी, स्वामी रामानंद, पंडित हरी प्रसाद चौरसिया, गिरिजा देवी, पंडित रवि शंकर, उस्ताद बिस्मिल्लाह खां आदि हैं ।

प्रश्न : स्वामी तुलसीदास जी का वाराणसी से क्या सम्बन्ध है ?
उत्तर : स्वामी तुलसीदास जी ने हिन्दू धर्म ग्रन्थ राम चरित मानस की रचना वाराणसी में ही की थी ।

प्रश्न : वाराणसी से गौतम बुध का क्या सम्बन्ध है ?
उत्तर : वाराणसी के निकट ही सारनाथ में गौतम बुद्ध ने अपना पहला प्रवचन दिया था ।

प्रश्न : वाराणसी में कौन से चार बड़े विश्वविद्यालय स्थित हैं ?
उत्तर : वाराणसी में बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय, महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ और सेन्ट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ़ हायर टिबेटियन स्टडीज़ स्थित हैं ।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisements