आजकल देश की राजनीती के सबसे बड़े प्रदेश उत्तर प्रदेश में भूचाल आया हुआ है| इस भूचाल का कारन शिवपाल यादव का योगी जी से मिलना बताया जा रहा है| जब से उत्तर प्रदेश का चुनावी रिजल्ट आया है| तभी से समाजवादी पार्टी की अंतर्कलह खुलकर सामने आ रही है| सपा में अखिलेश यादव की रणनीति पर सवाल उठने लगे है| पार्टी के कई नेताओ ने तो पार्टी तक छोड़ दी है| परन्तु लगता है अखिलेश यादव का इस पर कोई भी प्रभाव पड़ता नज़र नहीं आ रहा है| अखिलेश ने नेता विपक्ष के लिए राम गोविन्द चौधरी को चुना है| नेता विपक्ष चुनने के लिए उन्होंने मुलायम, शिवपाल या आज़म खान किसी की भी सलाह नहीं ली| अखिलेश यादव से उनका पूरा परिवार पहले से ही नाराज़ चल रहा है| इसके बाद तो समाजवादी पार्टी की टेंशन और अधिक बढ़ गई है|

शिवपाल यादव ने की थी योगी जी से मुलाकात

मुलायम यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव और बहु अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ जी से मुलाकात की थी| इसके तुरंत बाद शिवपाल यादव का योगी जी से मिलना प्रदेश की सियासत का पारा चढाने के लिए काफी है| शिवपाल यादव मुख्यमंत्री से मिलने उनके निवास स्थान 5 कालिदास मार्ग पहुचे थे| हालाँकि थोड़ी देर बाद ही वो बाहर आ गये| जब उनसे मुलाकात के बारे में पुछा गया तो उन्होंने कहा कि यह मुलाकात केवल शिष्टाचार थी| लेकिन विशेषज्ञों का मानना कुछ और ही है|

बड़ा खुलासा: इसलिए मिले थे शिवपाल यादव मुख्यमंत्री योगी से

एक-एक करके यादव परिवार के सदस्यों का मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से मिलना किसी व्यापक रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है| राजनीती के बाजारों में यह अफवाह गर्म है कि यह मुलाकातें शक्ति प्रदर्शन की भी हो सकती है| शिवपाल ने योगी जी से मिलने से पहले उत्तर प्रदेश विधानसभा स्पीकर से भी मुलाकात की थी| जानकारों का मानना है कि इन सब मुलाकातों से अखिलेश यादव पर दबाब बनाने की कोशिश की जा रही है|

वैसे आपको बता दे जिस प्रकार से उत्तर प्रदेश की राजनीती में उठा-पटक चल रही है| यह किसी बड़े भूचाल के आने की सम्भावना व्यक्त कर रही है| ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि हो सकता है समाजवादी पार्टी के बड़े नेता बीजेपी का दामन थाम ले| या फिर हो सकता है अखिलेश विरोधी गुट मिलकर नई पार्टी का गठन करके आगे की रह देखें| परन्तु अभी तो हम केवल अनुमान ही लगा सकते है| देखना है कि उत्तर प्रदेश की राजनीती का ऊंट किस करवट बैठता है|

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
Pankaj Sharma
देश की राजनीति से जुडी ख़बरों पर कड़ी नजर रखते हैं. फिल्में देखने का है शौक. नयी जगहों पर घूमना अत्याधिक पसंद