जकार्ता विस्फोटः बस स्टेशन के पास 2 विस्फोट

जकार्ता, इंडोनेशियाः दो विस्फोटों ने बुधवार को इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में एक बस टर्मिनल को हिलाकर रख दिया| इंडोनेशिया पुलिस ने कहा है इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है| शुरूआती जाँच चल रही है|

जकार्ता में बस टर्मिनल के पास हुआ बड़ा धमाका

ईस्ट जकार्ता पुलिस प्रमुख एंड्री विबोवा ने टीवी स्टेशन मेट्रो टीवी को बताया कि पीड़ितों को मारे गए या घायल होने की खबर नहीं है| यह बताया गया कि दो बम विस्फोट 9:00 pm (1400 जीएमटी) के आसपास हुए थे| दोनों विस्फोट एक-दूसरे के करीब थे| नुकसान के तौर में मैं देख सकता हूं कि विस्फोट बहुत बड़ा था। यह तुरंत स्पष्ट नहीं था कि किस प्रकार काम्पुंग मेलायु टर्मिनल में हुए विस्फोटों का कारण बना| जो मिनी बसों और बसों द्वारा में रखा गया था।

जकार्ता में बस टर्मिनल के पास हुआ बड़ा धमाका

एक प्रत्यक्षदर्शी सुल्तान मोहम्मद फ़िरदौस ने टीवी स्टेशन कॉम्पस टीवी को बताया कि उन्होंने 10 मिनट के अंतराल में दो विस्फोटों को सुना। उन्होंने कहा, “विस्फोट काफी जोर से थे, मैं उन्हें स्पष्ट रूप से सुन सकता था।” उन्होंने कहा कि उन्होंने सोचा कि विस्फोट में दो पुलिस अधिकारी घायल हो गए है।

इंडोनेशिया दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला मुस्लिम बहुसंख्यक देश है| यह लंबे समय से इस्लामी आतंकवाद से जूझ रहा है और दक्षिण पूर्व एशियाई राज्य के सैकड़ों कट्टरपंथियों ने आईएसआईएस से लड़ने की कोशिश की है| जिससे आतंकवादी संगठनों को कमजोर जीवन का नया पट्टा मिल सकता है। जकार्ता में एक बंदूक और आत्मघाती हमले में पिछले साल जनवरी में चार हमलावर और चार नागरिक मारे गए थे| दक्षिण पूर्व एशिया के आईएसआईएस समूह द्वारा दावा किया गया पहला हमला था।

इंडोनेशिया ने पिछले 15 वर्षों में इस्लामी आतंकवादी हमलों की एक श्रृंखला का सामना किया है| जिसमें 2002 बाली बम विस्फोट भी शामिल हैं जिनमें 202 लोग मारे गए थे| मारे गए ज्यादातर लोग विदेशी पर्यटक थे| एक निरंतर कार्रवाई में सबसे खतरनाक नेटवर्कों को कमजोर कर दिया गया| लेकिन आईएसआईएस के उद्भव ने कट्टरपंथियों के लिए एक शक्तिशाली नए रूप को साबित कर दिया है।