अपने जन्मदिवस पर मित्र द्वारा भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद पत्र लिखिए for class 6,7,8,9,10,11,12

Advertisement

Apne janamdivas par mitra dwara bheje gaye uphar ke liye dhanyvad patra  विषय पर विभिन्न कक्षाओं के छात्रों के लिए यहाँ पर पत्र लेखन के उदाहरण दिये गए हैं। पत्र लेखन के इन उदाहरणों के आधार पर आप विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी पत्र लेखन कर सकते हैं।

अपने जन्मदिवस पर मित्र द्वारा भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद पत्र लिखिए। कक्षा (11-12)

गर्दनीबाग कॉलोनी,
पटना
दिनांक: 25-2-2021

प्रिय सखी प्रीती,
बहुत बहुत प्यार

आशा है तुम अपने परिवार सहित स्वस्थ एवं सानंद होगी, ईश्वर की कृपा से मैं भी अपने परिवार सहित कुशल मंगल से हैं। वैसे तो तुमसे बात करने और तुम्हें पत्र लिखने के लिए मुझे किसी माध्यम की आवश्यकता नहीं पड़ती लेकिन यह पत्र लिखने का एक विशेष उद्देश्य अवश्य है। कल जब मैं विद्यालय से घर पहुंची तो मम्मी ने बताया कि तुम्हारी दोस्त ने तुम्हारे लिए उपहार भेजा है और वह तुम्हारे कमरे में रखा है। मैं दौड़ कर अपने कमरे में पहुंची जहां तुम्हारे द्वारा भेजा गया उपहार मेरा इंतजार कर रहा था। प्यारा-सा, सुंदर-सा बैग देख कर मैं बहुत खुश हो गई जिस पर मेरे नाम का पहला अक्षर भी अंकित था। इस उपहार के लिए तुम्हारा बहुत-बहुत धन्यवाद।

Advertisement

इस उपहार के लिए मैं तुम्हें विशेष तौर पर इसलिए धन्यवाद देना चाहती हूं क्योंकि इस समय मुझे इस बैग की अत्यंत आवश्यकता थी। मेरे मन की बात तुम तक पहुंची यह हम दोनों की दोस्ती की अच्छी पहचान है।

जन्मदिन पर तुम्हारा साथ ना पाकर मैं थोड़ी दुखी थी लेकिन तुम्हारे न आने की वजह जानकर मैं तुम्हारी मजबूरी को समझ गई। गांव से तुम्हारे दादा-दादी तुम से मिलने आए थे इसलिए तुम नहीं आ सकी, उस समय तुम्हें उनकी जरूरत थी। तुमने बेहतर विकल्प चुना। आशा करती हूं कि अगला जन्म दिवस हम साथ ही मनाए। पुनः इस उपयोगी उपहार के लिए हार्दिक आभार। हम दोनों की दोस्ती अमूल्य है और इसके समक्ष भौतिक वस्तुओं का कोई मोल नहीं लेकिन फिर भी तुमने मेरी खुशियों का ध्यान रखा, इसके लिए भी तुम्हारा बहुत-बहुत धन्यवाद। शेष बातें अगले पत्र में,अपने माता-पिता को मेरा प्रणाम कहना और अपने छोटे भाई को मेरा ढेर सारा प्यार बोलना।

तुम्हारी अभिन्न सहेली
रोहिणी

जन्मदिन पर मित्र द्वारा भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद पत्र लिखिए। कक्षा (9-10)

शहीद नगर,
आगरा
दिनांक: 26-1-2021

Advertisement

प्रिय सखी मधु,
सप्रेम नमस्कार

मैं यहां कुशल से हूं और तुम्हारी कुशलता की कामना करती हूं। तुम मेरे जन्मदिवस पर नहीं आ सकी लेकिन मेरे लिए मेरा पसंदीदा उपहार भेजना नहीं भूली। कल मेरे नाम से एक पार्सल आया था जब मैंने उसे खोलकर देखा तो उसमें कहानियों की एक किताब थी। इस ज्ञानवर्धक और अत्यंत रुचिकर उपहार के लिए तुम्हारा बहुत-बहुत धन्यवाद। मैंने झट से उसकी सारी कहानियां पढ़ डाली और अपनी माता पिता और भाई बहनों को भी पढ़ाया। सब ने तुम्हें इस उपहार के लिए धन्यवाद कहा है। इस उपहार को सब ने बहुत उपयोगी भी बताया। बहुत-बहुत आभार मित्र! निमंत्रण के बाद भी तुम मेंरे जन्मदिन में शामिल नहीं हो सकी तो मुझे बहुत बुरा लग रहा था लेकिन जब तुमने अपने स्वास्थ्य का हवाला दिया तो मेरी सारी शिकायत दूर हो गई। दोस्ती के नाते मेरे लिए सर्वप्रथम तुम्हारा स्वास्थ्य है बाद में कुछ और लेकिन अस्वस्थ रहकर भी तुमने मेरे लिए उपहार खरीदा ,इसके लिए तुम्हारा बहुत बहुत-बहुत शुक्रिया। ईश्वर से यही प्रार्थना है कि तुम शीघ्र स्वास्थ्य लाभ करो जिससे आगामी परीक्षाओं के लिए पढ़ाई कर सको। अगर अवसर मिला तो मैं अवश्य तुमसे मिलने आऊंगी। अपने माता-पिता को मेरा चरण स्पर्श कहना और छोटे भाई बहनों को मेरी ढेर सारी शुभकामनाएं।

तुम्हारी अभिन्न सहेली,
आरुषि

जन्मदिन पर मित्र द्वारा भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद पत्र लिखिए। (6, 7, 8)

1/ 73,
सुरेंद्र नगर,
अलीगढ़
दिनांक : 5-1- 2021

प्रिय सखी,
ढेर सारा प्यार

तुम्हारा पत्र मिला जिसमें तुमने यह लिखा था कि तुमने मेरे लिए एक उपहार भेजा है,वह उपहार कल ही मुझे मिला। मुझे यह जानकर अत्यंत प्रसन्नता हुई कि तुम्हें मेरी पसंद का कितना ध्यान रहता है। तुम्हारे द्वारा भेजी गई सुंदर-सी घड़ी मुझे बहुत पसंद आई। मेरे जन्मदिन पर तुम नहीं आई लेकिन जन्मदिन का उपहार भेजना नहीं भूली और वह भी इतना सुंदर! यह घड़ी मेरे लिए बहुत उपयोगी है। मेरी परीक्षा नजदीक है। कलाई पर बंधी यह घड़ी मुझे समय की कीमत बताती रहेगी और मेरा पढ़ाई में मन लगा रहेगा। मैं कैसे भूल सकती हूं कि तुम मेरे जन्मदिन पर आना तो चाहती थी लेकिन महामारी के फैलने के कारण तुम मेरी खुशियों में शरीक नहीं हो सकी। यह जानकर कि तुमने न सिर्फ अपने स्वास्थ्य की बल्कि दूसरों के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखा। यह जानकर बहुत अच्छा लगा। यह तुम्हारी अच्छी सोच का परिचायक है इससे हमारी तुम्हारी दोस्ती और गहरी हो गई। एक बार पुनः तुम्हें धन्यवाद।

अपने माता-पिता को मेरा प्रणाम कहना और परिवार के अन्य सदस्यों का मेरा उचित अभिवादन।

शेष मिलने पर

तुम्हारी अभिन्न सहेली
कृति

Patra lekhan in Hindi Class 6
Patra lekhan in Hindi Class 7
Patra lekhan in Hindi Class 8
Patra lekhan in Hindi Class 9
Patra lekhan in Hindi Class 10
Patra lekhan in Hindi Class 11
Patra lekhan in Hindi Class 12

पत्र लेखन के विषय (patra lekhan topics in Hindi), पत्र लेखन प्रारूप Patra Lekhan Formats, औपचारिक पत्र Aupcharik Patra, अनौपचारिक पत्र  Anaupcharik Patra आदि के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़ें:

पत्र लेखन PATRA LEKHAN | LETTER WRITING IN HINDI for FULL MARKS

औपचारिक एवं अनौपचारिक पत्र लेखन के 100 से अधिक उदाहरण 

आशा है कि जन्मदिवस पर मित्र द्वारा भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद पत्र विषय पर प्रस्तुत पत्र लेखन के उदाहरण आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगे। आप इन पत्रों में थोड़ी बहुत फेर-बदल कर मिलते जुलते विषयों पर पत्र लेखन के प्रश्न हल कर सकते हैं। इस पत्र लेखन से मिलते जुलते निम्न विषयों पर पत्र लेखन का अभ्यास आप कर सकते हैं जिनसे आपको परीक्षा में अच्छे अंक लाने में सहता मिलेगी जैसे – जन्मदिन पर मामाजी द्वारा भेजे उपहार के लिए उन्हें धन्यवाद देते हुए पत्र लिखिए।, जन्मदिन पर भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद देते हुए अपने मामा जी को पत्र लिखिए।, जन्मदिन के लिए पत्र, जन्मदिन के उपहार के लिए पत्र, अपने जन्मदिन पर भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद पत्र, चाचा को जन्मदिन के उपहार का धन्यवाद करने के लिए पत्र लिखें, मामा जी को उपहार भेजने के लिए धन्यवाद पत्र, अपने जन्मदिन पर मामा जी को बुलाने के लिए एक निमंत्रण पत्र लिखिए

कृपया अपने सुझाव हमें अवश्य भेजें।

Hindi Patra Lekhan Topics

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *