झाड़ू पर क्यों नहीं लगाना चाहिए पैर?

घर में कई वस्तुएं होती हैं कुछ बहुत सामान्य रहती हैं। इनकी ओर किसी का ध्यान नहीं जाता। ऐसी चीजों में से एक है झाड़ू। जब भी साफ सफाई करना हो तभी झाड़ू का काम होता है। अन्यथा इसकी ओर कोई ध्यान नहीं देता। शास्त्रों के अनुसार झाड़ू के संबंध कई महत्वपूर्ण बातें दी गई हैं।

Jhadu par pair kyon nahin lagana chahiye?शास्त्रों के अनुसार झाड़ू को धन की देवी महा लक्ष्मी का ही प्रतीक रूप माना जाता है। इसके पीछे एक वजह यह भी है कि झाड़ू ही हमारे घर से गरीबी रूपी कचरे को बाहर निकालती है और साफ सफाई बनाए रखती है। घर यदि साफ और स्वच्छ रहेगा तो हमारे जीवन में धन संबंधी कई परेशानियां स्वतः ही दूर हो जाती हैं।

प्र्राचीन परंपराओं को मानने वाले लोग आज भी झाड़ू पर पैर लगने के बाद उसे प्रणाम करते हैं, क्यों कि झाड़ू को लक्ष्मी का रूप माना जाता है। विद्वानों के अनुसार झाड़ू पर पैर लगने से महा लक्ष्मी का अनादर होता है। झाड़ू घर का कचरा बाहर करती है और कचरे को दरिद्रता का प्रतीक माना जाता है। जिस घर में पूरी साफ सफाई रहती है, वहां धन, संपति और सुख शांति रहती है। इसके विपरीत जहां गंदगी रहती है, वहां दरिद्रता का वास होता है। ऐसे घरों में रहने वाले सभी सदस्यों को कई प्रकार की आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जब घर में झाड़ू का कार्य न हो तब उसे ऐसे स्थान पर रखा जाता है जहां किसी की नजर न पड़े। इसके अलावा झाड़ू को अलग रखने से उस पर किसी का पैर नहीं लगेगा, जिससे देवी महा लक्ष्मी का निरादर नहीं होगा। यदि भूलवश झाड़ू को पैर लग जाए तो महा लक्ष्मी से क्षमा की प्रार्थना कर लेना चाहिए।