इंटरनेट पर लगातार पोर्नोग्राफी देखकर आप पोर्न के एक्सपर्ट बनना सोच रहे हैं और समझते हैं कि  इससे बेडरूम में आप बेहतर परफॉर्म करेंगे, तो आप गलत हैं. हाल ही में आई एक रिसर्च से ये सामने आया है कि रेगुलर पोर्न फिल्म देखने से बेडरूम में आपकी परफॉर्मेंस खराब हो सकती है. सबसे बड़ा खतरा उनके सामने है जिनकी शादी नहीं हुई है. ज्यादा पोर्न देखने वाले कुंवारे अक्सर सुहागरात को पत्नी के साथ बिस्तर पर हो जाते है फ्लॉप ! आइये जानते हैं  कि ज्यादा पोर्न देखना आपकी शादी-शुदा ज़िन्दगी को कैसे बर्बाद कर सकता है.

watching too much porn can affect your sex lifeरिसर्च बताती हैं कि लगातार पोर्न देखने से असल जिंदगी में सेक्स करते वक़्त एक्साइटमेंट खत्म होने का खतरा रहता है. ‘डोपामाइन’ नाम का एक न्यूरोट्रांसमीटर हमारे दिमाग में सेक्सुअल प्लेजर के लिए एक्साइटमेंट को बनाए रखता है. लेकिन जब हम लगातार पोर्न कंटेट देखते हैं तो दिमाग इसका आदि हो जाता है, और फिर धीरे धीरे एक्साइटमेंट खत्म होने लगता है. फिर ऐसा भी होता है कि सेक्स करते समय इरेक्शन या तो होता ही नहीं या होता भी है तो सेक्स में आनंद नहीं आता.

रिसर्च में ऐसे कई लोगों की राय ली गई जो शादी से पहले या शादी के दौरान भी बहुत ज्यादा पोर्न देखने के शौक़ीन थे यानी हर रात एक से दो घंटे तक पोर्न देखने वाले लोग. उन्होंने एकमत से जवाब दिए कि ‘जवानी की शुरुआत से लेकर आज तक  हम लगातार पोर्न देखते आए हैं . शुरू शुरू में तो काफी एक्साइटमेंट रहता था और पोर्न फिल्म देख कर आनंद भी आता था भले ही सेक्स न हो पाए या सिर्फ मास्टरबेशन ही कर पाएं. लेकिन उस नकली उत्तेजना की  ऐसी आदत पड़ गई कि शादी के बाद जब रीयल लाइफ में अपने पार्टनर के साथ करने के लिए एक्साइटमेंट लाना होता है तो अंदर से वो एक्साइटमेंट वाली फीलिंग ही नहीं आती’. बल्कि कई बार तो एक्साइटमेंट बिलकुल नहीं होता और इरेक्शन ही नहीं होता. ऐसे में अपनी वाइफ या गर्लफ्रेंड के सामने बड़ी शर्मिंदगी भी उठानी पड़ती है.

यह भी पढ़िए  सुहागरात से जुड़े हुए अजीबोगरीब रिवाज जिनसे दूल्हे-दुल्हन को उठानी पड़ती है शर्मिंदगी

सबसे ज्यादा शर्मनाक ऐसे परुषों की स्थिति होती है जिन्हें ये समस्या सुहागरात को सामने आती है. ज़रा सोचिये, कोई अगर सुहागरात को प्रथम मिलान के समय बिस्तर पे फेल हो जाये तो शर्म के मारे उसका क्या हल होता होगा! सारी जिंदगी अपनी बीवी के सामने ये जिल्लत का सामना करना पड़ेगा. कुछ केस ऐसे भी सामने आये जिसमें सुहागरात को सेक्स नहीं कर पाने पर वाइफ ने नामर्दगी का आरोप लगा कर तलाक भी ले लिया.

सेक्सोलॉजिस्ट और साइकोलॉजिस्ट भी इस बात से सहमत हैं. वो मानते हैं कि इंटरनेट पर जिस कदर फ्री में बेशुमार पोर्न आसानी से मिल जाता है, वो शुरू में तो बड़ा अच्छा लगता है. लेकिन जब दिमाग उसका आदी हो जाता है, तब असली सेक्स परफॉर्मेंस के समय वो शरीर में एक्साइटमेंट नहीं आ पाता.

सेक्सोलॉजिस्ट दावा करते हैं कि इंटरनेट पर दिखाया जाने वाला पोर्न नेचुरल सेक्स नहीं होता है. वैसा लोग जब असल जिंदग‍ी में करने की कोशिश करते हैं तो ना तो उस लेवल की परफॉर्मेंस दे पाते हैं और ना ही उतना आनंद महसूस करते हैं. इसलिए आपकी शादीशुदा जिंदगी बर्बाद होने से बचाने के लिए ये सलाह दी जाती है कि ज्यादा पोर्न नहीं देखें. वैसे राहत की बात यह है कि थोड़ा बहुत पोर्न देखने को सेक्सोलोजिस्ट गलत नहीं मानते. बस पोर्न देखना थोड़ा कम कर दें, आपकी जिंदगी में सेक्स का आनंद बना रहेगा.

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें