कलि और कली में अंतर – श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

कलि और कली में क्या अंतर है – समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म

कलि का अर्थ – कलियुग

कली का अर्थ – अधखिला फूल

कलि का वाक्य प्रयोग-

कलियुग के पापाचार से मुक्त कराने के लिए कलि अवतार अभी बाकी है।

कली का वाक्य प्रयोग-

सुबह खिली कलियां दोपहर तक फूल बन जाती है।

kali ka arth – kaliyug

kalee ka arth – adhkhila phul

कलि और कली शब्द युग्म के बारे में विभिन्न परीक्षाओं में कई प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं। जैसे –

कलि का अर्थ, कली का अर्थ, कलि और कली में अंतर बताइये, कलि का वाक्य प्रयोग, कली का वाक्य प्रयोग, कलि और कली श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म में अंतर स्पष्ट कीजिये, आदि।

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

500 श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

10 Important शब्द युग्म जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *