कानपुर : रेप के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर जब पुलिस ने नियंत्रण करने की कोशिश की तब भीड़ का गुस्सा आपे  से बाहर हो गया. कानपुर में हुए इस उपद्रव में कई पुलिसवालों को चोटें आयी हैं. लोगों का आरोप है कि पुलिस बलात्कार आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है.

मामला कानपुर के बर्रा थाना क्षेत्र स्थ‍ित जागृति हॉस्प‍िटल का है। शुक्रवार को यहां एडमिट एक छात्रा ने वार्ड ब्वॉय पर अपने सामने कपड़े चेंज करवाने और इंजेक्शन देकर रेप करने का आरोप लगाया था।

जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया। इसी मामले में शनिवार को छात्रा के परिजनों सहित सैकड़ों लोगों ने हॉस्पि‍टल सीज करने की मांग को NH-2 हाइवे जाम कर दिया और हॉस्प‍िटल पर पत्थरबाजी की।

छात्रा के पिता ने कहा, ”जो मेरी बेटी के साथ हुआ और किसी के साथ न हो, इसलिए हॉस्पिटल को सीज कराने की मांग कर रहे हैं। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद भी मुझे पूरे दिन थाने के चक्कर लगवाए। मुझे FIR की नकल नहीं दी गई। पुलिस आरोपी को VIP ट्रीटमेंट दे रहे थे। मुझे जमीन पर बैठाकर रखा था, जैसे मैं अपराधी हूं।”

हालाँकि घटनास्थल पर पुलिस के उच्च अधिकारी पहुँच चुके हैं तथा स्थिति अब नियंत्रण में है. पुलिस के अनुसार इस केस में सभी जरूरी प्रक्रियाओं का पालन किया जा रहा है. दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी.

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
यह भी पढ़िए  आपसी सहमति से उतार दिया गया मंदिर और मस्जिद का लाउडस्पीकर