उत्तर प्रदेश के कानुपर में पिछले दिनों हुए रेल हादसे के मामले में मुख्य आरोपी शमसूल होदा समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. ये ट्रेन हादसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर होते थे.

आरोपी शमसूल होदा ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर दुबई में बैठकर भारत की ट्रेनों को निशाना बनाने की साजिश रची थी. रेल हादसे के मुख्य संदिग्धों में से एक को दुबई से वापस भेजे जाने के बाद यहां नेपाल में काठमांडु के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है. नेपाल पुलिस के एक विशेष दल ने शमशुल हुदा को तीन अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया है.

ISI एजेंट शमसूल होदा  से आंध्र प्रदेश के कुनेरु के रेल हादसे और बिहार के घोड़ासहन में रेलवे पटरी पर बरामद हुआ आईईडी के बारे में भी पूछताछ की जा रही है. बिहार पुलिस की जांच में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया था. पुलिस पूछपाछ में आरोपियों ने कबूल किया था कि उन्हें नेपाल के एक शख्स ब्रजेश गिरी से 3 लाख रुपए मिले थे. जिसके बाद नेपाल पुलिस ने ब्रजेश गिरी को गिरफ्तार किया था.

शमसूल होदा को दो दिनों की पूछताछ के बाद कलैया ले जाया गया है, यहां उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी. बारा जिला के एसपी नरेंद्र उप्रेती ने शमसूल को काठमांडू से कलैया ले जाने की पुष्टि कर दी है. सूत्रों के मुताबिक शमसूल होदा ने पूछताछ में अपने पाकिस्तान कनेक्शन को भी स्वीकार कर लिया है.

पिछले साल 20 नवंबर को इंदौर-पटना एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी इस रेल हादसे में लगभग 150 लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद नेपाल पुलिस ने नेपाल से ब्रिज किशोर गिरी नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया जिसके फोन में एक ऑडियो क्लिप मिला था. इस ऑडियो क्लिप में कानपुर रेल हादसे की साजिश के बारे में बातचीत थी. नेपाल पुलिस ने एनआईए समेत तमाम जांच एजेंसियों को आडियो क्लिप सौंप दिए हैं. जिसके बाद एनआईए ने तीन एफआईआर दर्ज करके जांच शुरु कर दी थी.

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
Mritunjay
राष्ट्रीय राजनीति में विशेष रुझान रखते हैं. कभी कभार अन्य मुद्दों पर भी अपनी राय बेबाक तरीके से रखते हैं ! विशेष जानने के लिए इनसे फेसबुक के माध्यम से जुड़ सकते हैं! हिन्दीवार्ता पर इनके रोचक लेखों को पढ़िए और दिल खोल कर शेयर कीजिये.