कर्ण और करण में अंतर – श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

Advertisement

कर्ण और करण में क्या अंतर है – समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म

कर्ण का अर्थ – कान, एक नाम

करण का अर्थ – एक कारक, इन्द्रियाँ

कर्ण का वाक्य प्रयोग-

कर्ण कान में बचपन से ही एक कुंडल सुशोभित था।

Advertisement

करण का वाक्य प्रयोग-

करण कारक का प्रयोग अलगाव के लिए किया जाता है।

karna ka arth – kaan ek naam

karan ka arth – ek karak, endriya

Advertisement

कर्ण और करण शब्द युग्म के बारे में विभिन्न परीक्षाओं में कई प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं। जैसे –

कर्ण का अर्थ, करण का अर्थ, कर्ण और करण में अंतर बताइये, कर्ण का वाक्य प्रयोग, करण का वाक्य प्रयोग, कर्ण और करण श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म में अंतर स्पष्ट कीजिये, आदि।

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

500 श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

10 Important शब्द युग्म जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

Advertisement