खत्री शब्द का तत्सम रूप क्या है?khatri ka Tatsam

खत्री का तत्सम क्या है? khatri ka tatsam roop

खत्री का तत्सम क्या है?

खत्री शब्द का तत्सम रूप क्षत्रिय है।

khatri tatsam shabd kya hai?

khatri ka tatsam roop kshatriya hai

क्षत्रिय का तद्भव क्या है?

क्षत्रिय का तद्भव रूप खत्री है।

तत्सम दो शब्दों से मिलकर बना है – तत + सम, जिसका अर्थ होता है – उसके (संस्कृत के) समान। जिन संस्कृत के मूल शब्दों को बिना किसी परिवर्तन के हिन्दी में ज्यों का त्यों प्रयोग किया जाता है, उन्हें तत्सम शब्द कहते हैं। जैसे – सूर्य, वर्षा, नयन, धरित्रि आदि।

संस्कृत के मूल शब्दों में समय के साथ कुछ परिवर्तन आ गया है, ऐसे शब्दों को तद्भव शब्द कहते हैं, जैसे – सूरज, बारिश, नैन, धरती आदि।

Tatsam Tadbhav Shabd for Class 5
Tatsam Tadbhav Shabd for Class 6
Tatsam Tadbhav Shabd for Class 7
Tatsam Tadbhav Shabd for Class 8
Tatsam Tadbhav Shabd for Class 9
Tatsam Tadbhav Shabd for Class 10
तत्सम और तद्भव शब्दों के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए इस लिंक पर जाएँ:-

तत्सम – तद्भव शब्द : उदाहरण सहित व्याख्या 

परीक्षा में तत्सम और तद्भव शब्द पर अनेकों प्रकार से प्रश्न पूछे जा सकते हैं। जैसे –

खत्री का तत्सम क्या है? खत्री का तत्सम शब्द खत्री का तत्सम शब्द चुनिए खत्री शब्द का तत्सम रूप क्या होता है? खत्री का तत्सम रूप बताइए khatri ka tatsam roop khatri ka tatsam shabd kya hai?

परीक्षाओं में अक्सर पूछे जाने वाले 10 IMPORTANT तत्सम तद्भव शब्द के उदाहरण:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *