सैकड़ों पंडितों का आगमन कश्मीर में वार्षिक खीर भवानी महोत्सव का जश्न मनाने के लिए

श्रीनगर: सैकड़ों पंडितों का वार्षिक मां खीर भवानी त्यौहार मनाने के लिए कश्मीर में आगमन हो रहा हैं| घाटी के धार्मिक सद्भाव का प्रतीक त्योहार घाटी में विभिन्न समुदायों के बीच मजबूत बंधनों को पुनर्जीवित करने और कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए प्रार्थना करने के अवसर के रूप में देखा जाता है।

हर साल कश्मीरी पंडितो द्वारा मनाया जाता है खीर भवानी महोत्सव

उषा देवी और उनके परिवार के लिए यह घर वापसी है। बीस साल पहले परिवार टूट गया था| कुछ श्रीनगर से जम्मू चले गये, कुछ अन्य दिल्ली में| जब घाटी में आतंकवाद ने आतंक मचाया था। आज श्रीनगर से 27 किलोमीटर दूर गंदरबल में खीर भवानी मेला में पूरा परिवार फिर से मिला है। वे घाटी में शांति और कश्मीरी पंडितों की सुरक्षित वापसी के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

हर साल कश्मीरी पंडितो द्वारा मनाया जाता है खीर भवानी महोत्सव

हम दिल्ली और जम्मू में घर हैं, लेकिन हमारे पास मन की शांति नहीं है। मैं यहां एक सरकारी नौकरी कर रही थी| मेरे सहयोगियों और दोस्तों के साथ रह रही थी| लेकिन जीवन कश्मीर के बाहर इतना शांतिपूर्ण नहीं है – उषा देवी ने कहा। हर साल कश्मीरी पंडित जो राज्य से बाहर चले गए हैं, वे त्यौहार में भाग लेते हैं। यद्यपि राज्य में बढ़ते तनाव के कारण इस वर्ष आने वाले भक्तों की संख्या में एक महत्वपूर्ण गिरावट आई है| हालांकि यहां पर सांप्रदायिक सौहार्द अद्वितीय है, आगंतुक कहते हैं।

हर साल कश्मीरी पंडितो द्वारा मनाया जाता है खीर भवानी महोत्सव

हम भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं कि दिन जल्द ही आएगा, जब कश्मीरी पंडित अपने घरों में सम्मान के साथ अपने घर लौट सकेंगे अपने बच्चों के साथ। ऐसे कई बच्चे हैं, जिन्होंने कश्मीर नहीं देखा है| तुलमुल्ला में खीर भवानी मंदिर में राज्य की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती ने भी समारोह में हिस्सा लिया। यह एक धार्मिक त्योहार है जहां हिंदू प्रार्थना करते हैं और स्थानीय मुस्लिम व्यवस्था बनाते हैं। साल के लिए मुस्लिम परिवार पूजा सामग्री बेचने और उन्हें दूध देने के लिए स्टालों की स्थापना करके पंडितों का स्वागत करते रहे हैं।

पूजा सामग्री विक्रेता मुमताज ने कहा हमें बहुत लाभ मिलता है| हम इसके माध्यम से आय कमाते हैं| गरीब लोगों के लिए यह एक बढ़िया अवसर है। इससे हमारी आमदनी होती है जिससे हमारा परिवार चलता है|