कीर्ति आज़ाद ने फिर खोला जेटली के खिलाफ मोर्चा, बताया DDCA घोटाले में शामिल

नई दिल्ली : लगता है कीर्ति आज़ाद ने इस बार डीडीसीए मामले में आर पार की लड़ाई लड़ने का मन बना लिया है। कीर्ति आजाद आज सोमवार को अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से मुखातिब थे। उन्होंने डीडीसीए घोटाले प्रकरण पर फिर हमलावर तेवर दिखाते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली को कटघड़े में खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि अरुण जेटली को घोटाले की पूरी जानकारी थी। समय-समय पर उन्हें इसकी जानकारी भी दी गई। मगर वे चुप रहे।

Kirti Azad accuses Jaitley of involvement in DDCA Scamउन्होंने कहा कि डीडीसीए घोटाले का उनके पास पुख्ता सबूत है। इसी वजह से जो बोल रहा हूं, वह छाती ठोक कर बोल रहा हू़ं। श्री जेटली के कार्यकाल में कई ऐसे चेकों से भुगतान किया गया, जिन पर कोषाध्यक्ष के हस्ताक्षर तक नहीं हैं। भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई जारी रहेगी। इससे कोई रोक नहीं सकता। डीडीसीए में भ्रष्टाचार का मुद्दा वे पिछले दस सालों से उठाते आ रहे हैं। पार्टी नेतृत्व का भी मानना है कि डीडीसीए में घोटाला हुआ है।

पाठकों की जानकारी के लिए गौरतलब है की सांसद कीर्ति आज़ाद को डीडीसीए घोटाला मामले में वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ मोर्चा खोलने के कारण भाजपा से निलंबित कर दिया गया है ।

यह भी पढ़िए – होने वाली है भाजपा से कीर्ति आज़ाद की छुट्टी

उन्होंने सवाल किया कि सीबीआई जांच आगे बढ़ाने से किसके दवाब में पीछे हट रही है। सीबीआई के अधीन डीडीसीए के खिलाफ आधा दर्जन मामले लंबित हैं। चार बार नोटिस के बाद भी सीबीआई जांच से पीछे क्यों हट गई? डीडीसीए मामले को लेकर उनपर मानहानि का मुकदमा दर्ज किया गया है। वह जो भी बोल रहे हैं, उसका उनके पास पुख्ता सबूत हैं।