क्यों चढ़ाये जाते हैं हनुमान को उड़द के दाने?

प्राचीन काल से ही सभी को धन का मोह रहा है। इसके अभाव में सुखी और खुशहाल जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। ज्योतिष के अनुसार यदि कोई अशुभ ग्रह योग हो तो पूरी मेहनत के बाद भी पर्याप्त धन प्राप्त नहीं होता है।
ज्योतिषशास्त्र में अशुभ ग्रहों के प्रभावों को दूर करने के लिए कई अचूक उपाय बताए गए हैं।

धन संबंधी परेशानियों को खत्म करने के लिए निम्न उपाय अपनाएं।

Kyon chadhaye jate hain Hanuman ko urad ke dane?हर मंगलवार और शनिवार को किसी भी हनुमान मंदिर में 99 काले उड़द के दाने, सिंदूर, चमेली का तेल, फूल, प्रसाद अर्पित करें। साथ ही सुंदरकांड का पाठ करें या समय अभाव हो तो हनुमान चालीसा का पाठ करें। मंगलवार शनिवार को हनुमान जी का विधिव्रत पूजन करने से सभी प्रकार के कष्ट और क्लेश नष्ट हो जाते हैं। इसके साथ ही कुण्डली में शनि के अशुभ प्रभाव भी दूर हो जाते हैं।

इस उपाय को अपनाने से कुछ ही दिनों में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होने लगेंगे। पवित्रता का पूरा ध्यान रखें। किसी भी प्रकार के अधार्मिक कर्मों से दूर रहें। किसी भी स्थिति में घर के बड़े बुजूर्गों सहित अन्य वृद्धजनों का सम्मान करें, उनका दिन न दुखाएं।

हनुमान शक्ति, शांति, बुद्धि और भक्ति के देवता हैं। शनि श्रम का अधिपति ग्रह है। बिना श्रम धन नहीं मिलता, बिना शक्ति के श्रम नहीं हो सकता। हनुमान श्रम करने के लिए पर्याप्त शक्ति प्रदान करते हैं। वे अपने शनि को संतुष्ट करने वाले देवता हैं। इसलिए शनि को मनाने के लिए हनुमान को भी पूजा जाता है।