क्यों पूजे जाते हैं लक्ष्मी के साथ गणेश और सरस्वती?

Lakshmi ke sath ganesh aur Sarasvati ki puja kyon hoti hai?

दीपावली पर धन की देवी महा लक्ष्मी की पूजा के साथ साथ श्री गणेश और देवी सरस्वती को भी पूजने का विधान है। महा लक्ष्मी के आर्शीवाद से भक्त को धन, यश, मान-सम्मान प्राप्त होता हैं इस दिन खासतौर पर लक्ष्मी पूजा का महत्व है। मां लक्ष्मी के साथ गणेश जी और सरस्वती जी की पूजा करने के पीछे धार्मिक कारण है।

Lakshmi ke sath ganesh aur Sarasvati ki puja kyon hoti hai?लक्ष्मी धन की देवी हैं तो श्री गणेश रिद्धि और सिद्धि के देवता हैं। वहीं मां सरस्वती बुद्धि अथवा विद्या की देवी है। लक्ष्मी की कृपा मतलब धन की प्राप्ति तभी हो सकती है जब श्री गणेश और सरस्वती की कृपा भी प्राप्त हो। क्योंकि धन कमाने के लिए बुद्धि की भी आवश्यकता होती है। प्रखर बुद्धि वाले व्यक्ति अधिक धन प्राप्त कर सकते हैं।

अच्छी विद्या के लिए मां सरस्वती की आराधना की जाती है। इनके ही आर्शीवाद से हमें ज्ञान की प्राप्ति होती है और इस ज्ञान से ही सभी सुख-समृद्धि और मान सम्मान प्राप्त होता है।

श्री गणेश रिद्धि और सिद्धि के देवता माने जाते हैं। इनकी कृपा से ही हर व्यक्ति के घर में बरकत अर्थात् समृद्धि हमेशा बनी रहती है। हमारे जीवन में कभी धन का अभाव न हो और सभी सुख प्राप्त होते रहें, इसके लिए श्री गणेश की पूजा की जानी चाहिए। इसी वजह से महा लक्ष्मी के साथ साथ श्री गणेश और सरस्वती की पूजा की जाती है।