लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती आयकर जांच के लिए आयकर भवन पहुंची, विभाग ने दिया था ‘बेनामी संपत्तियों’ को कुर्क करने का आदेश

पटना / नई दिल्ली: आयकर विभाग ने एक लिस्‍ट जारी करते हुए राजद सुप्रीमो लालू यादव के कुल 12 प्‍लॉट जब्‍त किए हैं. इस बाबत विभाग की तरफ से लालू यादव के परिवार को नोटिस भेज दिया गया है जिसके चलते मीसा भारती जांच के लिए आयकर भवन पहुंची| मीसा आज की तारीख में नई दिल्ली में आयकर कार्यालय पर पहुंच गई है और फिलहाल इस मामले पर उनसे सवाल पूछे जा रहे है।

विभाग ने लालू की सांसद बेटी मीसा भारती, दामाद शैलेश कुमार, उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, बेटे और बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वि यादव और बेटियों चंदा और रागिनी यादव को संपत्ति के लिए नोटिस जारी किए। सूत्रों ने बताया कि विभाग ने बेनामी लेनदेन अधिनियम के तहत एक अनंतिम आदेश जारी किए जाने के बाद दिल्ली में दो संपत्ति और बिहार में कई अन्य संपत्ति संलग्न की है।

इस महीने की शुरुआत में, मीसा भारती और उनके पति ने आईटी डिपार्टमेंट से आये दो नोटिसों को तवज्जुब न देते हुए आयकर भवन मे अपनी उपस्थिति नहीं दी थी, जिसके चलते सरकार पर कई सवाल खड़े हो गए थे |

नेता सुशील कुमार मोदी, जिन्होंने भ्रष्ट भूमि सौदों में उनकी भागीदारी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के आरोप के बाद लालू प्रसाद के आवास के अलावा, आईटी विभाग के अधिकारियों ने पार्टी एमपी पीसी गुप्ता के दिल्ली और हरियाणा के गुरुग्राम और रेवारी में कई कारोबारी और रीयल एस्टेट एजेंटों के घरों पर छापेमारी की।

मीसा भारती ही क्यों पहुंची आयकर भवन

लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती आयकर जांच के लिए आयकर भवन पहुंची, विभाग ने दिया था 'बेनामी संपत्तियों' को कुर्क करने का आदेश

सोमवार को मीसा भारती और उनके पति की सम्पति को आयकर विभाग द्वारा सीज़ कर दिया गया था जिसके बाद दोनों को आयकर भवन आने का नोटिस भेजा गया था | आपको बताते चलते है कि इस कार्यवाही मे विभाग ने 6 जून को पहला समन जारी किया गया था, पर मीसा भारती और उनके पति कि अनुपस्थिति को देखते हुए विभाग द्वारा 12 जून को फिरसे उन्हें समन भेजा था| लेकिन दोनों समन के बाद भी जब दोनों आयकर भवन नहीं पहुंचे तो मीसा भारती के चार्टर्ड अकाउंटेंट राजेश अग्रवाल को गिरफ्तार करा गया |