जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार लोकोक्ति (मुहावरे) का अर्थ वाक्य प्रयोग, meaning in Hindi

Advertisement

Kahan kahan charan padai santan ke tahan tahan hovai bantadhar लोकोक्ति (मुहावरे) का हिन्दी में अर्थ , meaning in Hindi

लोकोक्ति (मुहावरा) – जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार

लोकोक्ति (मुहावरे) का हिन्दी में अर्थ – मनहूस आदमी हर काम को बनाने के बजाय उसमें विघ्न ही डालता है।

जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार हिन्दी की एक प्रसिद्ध लोकोक्ति है जिसका प्रयोग अक्सर हिन्दी के लेख, निबंध आदि में किया जाता है।

जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार लोकोक्ति (मुहावरे) का वाक्य प्रयोग :-

लोकोक्ति का वाक्य प्रयोग – उसे शादी में लाइट की व्यवस्था का जिम्मा मत सौंपना उस पर तो जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ बन्टाधार कहावत चरितार्थ होती हैं।

Advertisement

लोकोक्ति का वाक्य प्रयोग – किसी भी समारोह हो या कोई भी कार्यक्रम हो यदि महेश वहां पहुंच जाता है तो कार्यक्रम का सत्यानाश हो जाता है जहां जहां पाव पड़े संतन के तहं तहं हुए बंटाधार।

लोकोक्ति का वाक्य प्रयोग – महेश अपने परिवार के लिए पनौती है जिस कार्यक्रम में शामिल हुआ कार्यक्रम का अंत बहुत बुरा होता है फिर लोग कहते हैं अरे पनौती आ गया अब सब गड़बड़ होगा जहां जहां पांव पड़े संतन की तहं तहं होवे बंटाधार।

हिन्दी की 1000 लोकोक्तियाँ – अर्थ, वाक्य प्रयोग 

कई बार लोग लोकोक्तियों (कहावतों) और मुहावरों को एक ही समझने की भूल कर बैठते हैं। मुहावरे और लोकोक्ति में अंतर को जानने के लिए इस लिंक पर जाएँ और मुहावरे और लोकोक्तियों का अंतर अच्छी प्रकार से समझें।

मुहावरे और लोकोक्ति में अंतर

Lokokti (Muhavra) – Kahan kahan charan padai santan ke tahan tahan hovai bantadhar

Advertisement

Lokokti (Muhavre)ka Hindi mein arth – manahus adami har kam ko banane ke bajay usamein vighn hi dalata hai.

Kahan kahan charan padai santan ke tahan tahan hovai bantadhar Lokokti ka Vakya prayog

Meaning of Lokokti Kahavat Kahan kahan charan padai santan ke tahan tahan hovai bantadhar in English

जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार कहावत का हिन्दी में अर्थ और वाक्य प्रयोग

यहाँ पर हमने इस लोकोक्ति (कहावत) के बारे में निम्न बातें समझाई हैं:-

जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार in English ; जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार sentence ; जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार vakya prayog ; जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार का वाक्य प्रयोग ; जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार पर कहानी ; जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार मुहावरे का अर्थ क्या होगा ; जहँ – जहँ पाँव पड़े सन्तन के तहँ – तहँ होवै बन्टाधार लोकोक्ति का अर्थ क्या होगा

विभिन्न कक्षाओं के लिए हिन्दी की कहावतों लोकोक्तियों की जानकारी के लिए इन लेखों को पढें:

Hindi Lokoktiyan for Class 5

Hindi Lokoktiyan for Class 6

Hindi Lokoktiyan for Class 7

Hindi Lokoktiyan for Class 8

Hindi Lokoktiyan for Class 9

Hindi Lokoktiyan for Class 10

10 प्रसिद्ध लोकोक्तियों का हिन्दी में अर्थ और वाक्य प्रयोग

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *