Samvad Lekhan माँ पुत्री के बीच घर की सफाई पर संवाद- संवाद लेखन

Maa putri ke beech ghar ke safai par samvad- Samvad Lekhan

माँ : नीता, घर कितना गन्दा हो रखा है। तुम घर की सफाई में मेरा हाथ क्यों नहीं बटाती ?

पुत्री : माँ अभी सफाई करने वाली आंटी आएँगी तो आप उनसे करा लेना ना ।

माँ : वह सिर्फ झाड़ू और पोछे के लिए आती है बेटा, पूरे घर की सफाई के लिए नहीं ।

पुत्री : माँ तो उन्हें इस काम के लिए भी रख लीजिये ना ।

माँ : बेटा, हर काम किसी दूसरे पर नहीं छोड़ा जाता । तुम्हे भी तो घर की सफाई के विषय में कुछ पता होना चाहिए ।अगर हम मिलजुल कर सफाई करेंगे तो झट से काम निपट जाएगा ।

बेटी : माँ मुझे सफाई-वफाई करने के काम अच्छे नहीं लगते ।

माँ : अपने कमरे की हालत देखी है तुमने ? मुझे समय मिलता है तो मैं ही खिड़की-दरवाज़े साफ़ करती हूँ और तुम्हारे आधे कपड़े तो कुर्सियों पर ही पड़े रहते हैं । कौन सा कपडा गन्दा है कौन सा साफ़, कुछ पता ही नहीं चलता और पढ़ाई की मेज तो पूरी बिखरी रहती है ।रोज तुम्हारे विद्यालय जाने के बाद मैं ही साफ़ करती हूँ । ऐसे में तो तुम बीमार भी पड़ सकती हो ।

बेटी : माँ मैं शर्मिंदा हूँ मेरे कारण आपको इतना काम करना पड़ता है । आप चिंता ना करें आज से पूरे घर की सफाई की जिम्मेदारी मेरी है और मैं इसे पूरी तरह निभाऊँगी ।

यह संवाद लेखन विद्यार्थियों के लिए निम्न विषयों पर उपयोगी होगा – Samvad Lekhan, samvad lekhan meaning, samvad lekhan in hindi for class 8, samvad lekhan meaning in english, samvad lekhan in hindi for class 7, samvad lekhan format class 9, samvad lekhan marathi, shunya kachra samvad lekhan, 5 samvad lekhan, samvad lekhan in hindi for class 6, samvad lekhan in hindi for class 5, samvad lekhan in hindi for class 10

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *