मलाला यूसुफजई पर तालिबान हमला एक रचा हुआ नाटक था- पाक सांसद

इस्लामाबाद: नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई पर हुआ तालिबान हमला एक षड़यंत्र था| पाकिस्तान की एक महिला सांसद ने आरोप लगाया है कि मलाला पर 2012 में हुआ तालिबानी हमला एक सोची-समझी साजिश थी और कुछ नहीं| पाकिस्तान में इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इन्साफ विपक्ष में है| इसी पार्टी की एक महिला सांसद ने मुसर्रत अहमदजेब ने उर्दू अखबार ‘उम्मत’ को दिए अपने साक्षात्कार में कहा, यूसुफजई पर किया गया हमला रचा हुआ नाटक था| उन्होंने कहा मुझे तो यह भी संदेह है कि उसके सर में गोली लगी थी|

मलाला यूसुफजई पर तालिबान हमला एक रचा हुआ नाटक था- पाक सांसद

सांसद ने कहा सिर में गोली होने के कोई सबूत नहीं थे

मुसर्रत अहमदजेब ने ट्वीट किया कि मलाला यूसुफजई के सिर में गोली मारी गई| स्वात में हुए सिटी स्कैन में उनके सिर में गोली होने के कोई सबूत नहीं थे| परन्तु जैसे ही वो पेशावर के अस्पताल में आई, उनके सिर में गोली मिल गई| सांसद ने यह भी आरोप लगाया है कि जिन चिकित्सको ने यूसुफजई का इलाज किया था| उन्हें सरकार द्वारा जमीन दी गई है| नेता ने दवा किया है कि जब मलाला ने बीबीसी के लिए गुल मकाई शीर्षक के लिए कहानिया लिखी| उस समय उन्हें पढ़ना-लिखना भी नहीं आता था|

आगे उन्होंने कहा मलाला के घर एक अमेरिकी तीन-चार महीने तक रहा| जिसने उनको आने वाले समय के लिए प्रशिक्षित किया था| अभी तक यह साफ़ नहीं हुआ है कि सांसद ने ऐसा ब्यान क्यों दिया है| तहरीक-ए-इन्साफ पार्टी के एक प्रवक्ता शफकत महमूद ने मिडिया को बताया कि मुसर्रत अहमदजेब को पार्टी ने अनुशासन तोड़ने के लिए पहले ही पार्टी से बाहर कर दिया है| अभी तक किसी और पार्टी कि तरफ से इस आरोप पर कोई बयान नहीं आया है|