मंदिरों में घंटा, नगाड़े आदि क्यों बजाये जाते हैं?

Mandiron mein ghante nagade kyon bajaye jate hain?

यह विज्ञान द्वारा प्रमाणित है कि आरती के समय मंदिरों में जो उपरोक्त वाद्ययंत्र बजाये जाते हैं, उनसे काफी तेज ध्वनि होती है एवं इस तेज ध्वनि से मीलों तक वायु के कम्पन से विषाक्त कीटाणु नष्ट हो जाते हैं। वातावरण शुद्ध हो जाता है। आपने देखा होगा कि महाभारत में युद्ध के पहले सब महारथी अपना अपना शंख बजाकर वातावरण को शुद्ध करते थे। पहले वे वातावरण शुद्ध करते थे, फिर युद्ध करते थे।