Advertisement

मित्र की माताजी की मृत्यु पर संवेदना पत्र लिखिए for class 9,10,11,12

Mitra ki mata ji ki marityu par samvedana patra likhiye विषय पर विभिन्न कक्षाओं के छात्रों के लिए यहाँ पर पत्र लेखन के उदाहरण दिये गए हैं। पत्र लेखन के इन उदाहरणों के आधार पर आप विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी पत्र लेखन कर सकते हैं।

Advertisement

मित्र की माताजी की मृत्यु पर संवेदना पत्र लिखिए (Class 9-10 )

4/45
नेहरू मार्ग
नई दिल्ली ,

दिनांक -22.6.22

Advertisement

प्रिय मित्र
सुशील

अभी अभी टेलीफोन द्वारा तुम्हारी माताजी की मृत्यु का दुखद समाचार प्राप्त हुआ।मैं समझ सकता हूँ कि यह पल तुम्हारे लिए अत्यंत मुश्किल भरा होगा।किसी भी व्यक्ति के लिए उसकी माँ सबसे महत्वपूर्ण होती है। माताजी का इस तरह काल कलवित हो जाना पूरे परिवार के लिए वज्रपात के समान है। इस दुखद घड़ी में मैं तुम्हारे साथ नहीं हूँ इसका मुझे बहुत अफसोस है। मैं जल्द ही तुमसे मिलने आऊँगा । माँ का कोई विकल्प नहीं होता , मैं तुम्हारी माँ का स्थान तो नहीं ले सकता लेकिन तुम्हारे दुख को दूर करने का प्रयास अवश्य करूंगा ।

Advertisement

ईश्वर तुम्हें और तुम्हारे शोक संतप्त परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे। तुम्हें धैर्य रखना होगा क्योंकि तुम परिवार में सबसे बड़े हो और तुम्हारे ऊपर अन्य भाई बहनों की भी जिम्मेदारी है। पिताजी भी टूट चुके है इसलिए तुम्हें उन्हे भी संभालना है इसलिए हिम्मत से काम लो और अपने आप को मजबूत बनाओ।

इस दुखद घड़ी में मैं तुमसे गहरी संवेदना रखता हूँ और तुम्हारे दुख को समझता हूँ। ईश्वर तुम्हारी माताजी की आत्मा को शांति दे और तुम्हें धैर्य ,हिम्मत और साहस दे ताकि तुम इस दुखद घड़ी में अपने साथ साथ अपने परिवार को संभाल सको।
एक बार पुनः मैं अपनी सहानुभूति प्रकट करना चाहता हूँ। जल्द ही मैं तुमसे मिलने आऊँगा।

तुम्हारा मित्र
नवीन

Advertisement

मित्र की माताजी की मृत्यु पर संवेदना पत्र लिखिए । (Class 11-12)

4/45
नेहरू मार्ग
नई दिल्ली ,

दिनांक -22.6.22

प्रिय मित्र
महेश

अभी पिछली डाक से तुम्हारा शोक संतप्त पत्र प्राप्त हुआ।यह जानकर बहुत दुख हुआ कि तुम्हारी माताजी नहीं रही।यह खबर हम सभी के लिए आघात के समान है।दुख की इस घड़ी में मेरी पूरी संवेदना तुम्हारे साथ है।ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें और तुम्हें तुम्हारे परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे।जिसके साथ हमारा रात दिन का साथ होता है उसका इस तरह चला जाना अत्यंत दुखदायी होता है। लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं होता। मन को मनाने के लिए विधाता के इस निर्णय को स्वीकार करना पड़ता है।

तुम्हारी माताजी के साथ बिताई कुछ स्मृतियाँ मुझसे भी जुड़ी है। मैं जब भी उनसे मिला मुझे अपनी माँ का सा ही अनुभव हुआ। शोक की इस घड़ी में मेरी पूरी सहानुभूति तुम्हारे साथ है।मैं तुमसे मिलने अवश्य आऊँगा , मैं तुम्हारी माताजी का स्थान तो नहीं ले सकता लेकिन तुम्हारे दुख को दूर करने का प्रयास अवश्य करूंगा।

तुम्हारा मित्र
अशोक

Advertisement

Patra lekhan in Hindi Class 6
Patra lekhan in Hindi Class 7
Patra lekhan in Hindi Class 8
Patra lekhan in Hindi Class 9
Patra lekhan in Hindi Class 10
Patra lekhan in Hindi Class 11
Patra lekhan in Hindi Class 12

पत्र लेखन के विषय (patra lekhan topics in Hindi), पत्र लेखन प्रारूप Patra Lekhan Formats, औपचारिक पत्र Aupcharik Patra, अनौपचारिक पत्र  Anaupcharik Patra आदि के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़ें:

पत्र लेखन PATRA LEKHAN | LETTER WRITING IN HINDI for FULL MARKS

औपचारिक एवं अनौपचारिक पत्र लेखन के 100 से अधिक उदाहरण 

आशा है कि मोबाइल और इंटरनेट के बिना जीवन कैसे जियें ? इस पर मित्र को पत्र लिखें  विषय पर प्रस्तुत पत्र लेखन के उदाहरण आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगे। आप इन पत्रों में थोड़ी बहुत फेर-बदल कर मिलते जुलते विषयों पर पत्र लेखन के प्रश्न हल कर सकते हैं। इस पत्र लेखन से मिलते जुलते निम्न विषयों पर पत्र लेखन का अभ्यास आप कर सकते हैं जिनसे आपको परीक्षा में अच्छे अंक लाने में सहता मिलेगी जैसे – अपने पिताजी के स्थानांतरण पर नये विद्यालय में प्रवेश के लिये प्रार्थना पत्र लिखिए, टीसी के लिए आवेदन पत्र हिंदी में, स्कूल छोड़ने के लिए प्रमाण पत्र, नौकरी में स्थानांतरण हेतु आवेदन पत्र, स्थानांतरण प्रमाण पत्र हेतु आवेदन पत्र हिंदी में, कॉलेज छोड़ने के प्रमाण पत्र के लिए आवेदन, १२ वीं के बाद स्थानांतरण प्रमाण पत्र के लिए आवेदन, ट्रांसफर हेतु आवेदन पत्र

Advertisement

कृपया अपने सुझाव हमें अवश्य भेजें।

FAQs

कैसे एक दोस्त जिसके पिता की मृत्यु हो गई सांत्वना देने?
मित्र के पिता की अचानक मृत्यु हो जाने की सूचना मिलने पर उसे सांत्वना देते हुए पत्र लिखिए इस दुःख के समय में मैं और मेरा पूरा परिवार आपके दुःख में शामिल हैं। मेरी ईश्वर से प्रार्थना है कि उनकी आत्मा को शांति मिले.

 

Advertisement

Leave a Reply