मोदी सरकार का बड़ा फैसला, मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर लगाई रोक

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार ने गौ रक्षा के लिए बड़ा कदम उठाया है| पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को बताया कि अब देश में कही भी किसी भी पशु बाजार में बूचड़खानों के लिए मवेशियों की बिक्री नहीं की जाएगी|

मोदी सरकार ने रेगुलेशन ऑफ लाइवस्टॉक मार्केट्स 2017 लागु किया

केंद्र सरकार के पर्यावरण मंत्रालय ने द प्रिवेंशन ऑफ़ क्रुएलिटी टू एनिमल्स (रेगुलेशन ऑफ लाइवस्टॉक मार्केट्स) 2017 को लागू कर दिया है| इस प्रिवेंशन में यह सुनिश्चित करना है कि पशु बाजार में जानवरो की खरीद-बिक्री के बाद उनपर कोई क्रूरता न हो सके| इस अधिनियम के अंतर्गत मवेशियों को खरीदने और बेचने वाले को यह सुनिश्चित करना होगा कि जानवरो को बूचड़खानों के लिए तो नहीं खरीद या बेच रहा है| इसके लिए व्यापारियों को एनिमल मार्किट के सेक्रेटरी को एक अंडरटेकिंग देना होगा| साथ ही बिना राज्य के मवेशी संरक्षण नियम कि मंजूरी के वो कोई मवेशी न तो खरीद सकता है और न ही बेच सकेगा|

मोदी सरकार का बड़ा फैसला

मोदी सरकार के इस फैसले से मीट व्यापर पर पड़ेगा असर

मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा इस नियम में गाय, सांड, भैंस, ऊंट, बैल, बछड़े जैसे जानवरो को इस नियम में रखा गया है| यह नियम केवल पशु बाजार पर ही लागू होगा| व्यक्तिगत लेन-देन पर अभी इस नियम की भूमिका स्पष्ट नहीं हुई है| कत्लखानो के लिए पशु बाजार से ही बड़े पैमाने पर जानवरो को ख़रीदा जाता है| इस नियम के लागू होने के बाद इसका सीधा असर मीट व्यापारियों पर पड़ेगा| इस नियम से मीट व्यापर पर सीधे प्रभाव पड़ने के आसार है|

तीन साल पूरे होते ही मोदी सरकार ने गौ रक्षा के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए है| इससे सरकार की नियत साफ़ नज़र आ रही है कि केंद्र कि बीजेपी सरकार विकास के साथ-साथ अपनी विचारधारा पर भी काम करेगी| जिससे उसको आने वाले चुनावो में फायदा मिल सकें|