मोदी सरकार का एक ओर तोहफा, अब 8 साल से कम ओर 60 साल से अधिक वालो को 10% कम देनी होगी पासपोर्ट फीस

नई दिल्ली: विदेश मामलों की मंत्री सुषमा स्वराज ने शुक्रवार को पासपोर्ट अधिनियम, 1967 के 50 वर्ष पूरा होने पर 8 साल से कम और 60 साल से अधिक उम्र के लोगो के पासपोर्ट के लिए शुल्क में 10 प्रतिशत कम होने की घोषणा की। मंत्री ने यह भी घोषणा की कि पासपोर्ट अब द्विभाषी होंगे, जो कि हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में है। इस अवसर पर संचार मंत्री मनोज सिन्हा के साथ, स्वराज ने भी एक स्मारक डाक टिकट का अनावरण किया।

स्वराज ने कहा, “हमने पासपोर्ट के नियमों ओर सेवाओं में सुधार किया है और आवेदकों के दरवाजे तक डिलीवरी पर ध्यान केंद्रित किया है।”

बड़े पैमाने पर हमारे नागरिकों को पासपोर्ट सेवाएं प्रदान करने के लिए और व्यापक क्षेत्र की कवरेज सुनिश्चित करने के लिए, विदेश मंत्रालय और डाक विभाग (डीओपी) ने पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र के रूप में देश में हेड पोस्ट ऑफिस का उपयोग करने पर सहमति व्यक्त की है। हमारे देश के नागरिकों को पासपोर्ट से संबंधित सेवाएं देने के लिए हम निरंतर कार्य कर रहे है ओर आने वाले समय मे सबको इसका ओर अधिक फायदा मिलेगा ।

नई दिल्ली में सर्वे ऑफ इंडिया (एसओआई) 250 वर्षों के पूरा होने पर प्रेस सूचना ब्यूरो ऑडिटोरियम में पासपोर्ट सेवा दिवस और पासपोर्ट अधिकारी सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे थे।

सुषमा स्वराज ओर मनोज सिन्हा ने ओर क्या कहा इस मौके पर

मोदी सरकार का एक ओर तोहफा, अब 8 साल से कम ओर 60 साल से अधिक वालो को 10% कम देनी होगी पासपोर्ट फीस

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि- भारतीय जनता पार्टी, श्री नरेंद्र मोदी कि अगुवाई मे वे सभी कार्य निरंतर करती जा रही है जिससे भारतीय समाज मे पारदर्शिता बने, उन्होंने कहा कि हम जिस तरह से कार्य कर रहे है यदि ये सभी कार्य पिछली सरकार करती तो अब तक हम बहुत आगे पहुंच चुके होते | सुषमा जी यही नहीं रुकी, उन्होंने कहा कि हम ये सुनिश्चित करेंगे कि पासपोर्ट सेवा घर घर पंहुचा सके ओर आवेदकों को होने वाली मुश्किलों से बचाया जा सके |