आपसी सहमति से उतार दिया गया मंदिर और मस्जिद का लाउडस्पीकर

Advertisement

जहां आए दिन देश में मंदिर और मस्जिद को ले कर सांप्रदायिक दंगे और झगडे देखने को मिलते हैं वही उत्तर प्रदेश के मोरादाबाद के इस गांव में हिन्दू और मुस्लिम समुदायों के बीच आपसी सौहार्द्य की एक अद्भुत मिसाल इस गांव में देखने को मिली
जहां लोगों ने आपसी सहमति से मंदिर तथा मस्जिद दोनों से लाउडस्पीकर उतार दिया ताकि दूसरों को परेशानी न हो.

लोगों ने न सिर्फ लाउड स्पीकर उतरा बल्कि यह फैसला भी लिया कि आने वाले समय में किसी भी धार्मिक कार्य में लाउड स्पीकर का प्रयोग नहीं किया जाएगा. ये फैसला दोनों समुदायों की सहमति से ख़ुशी ख़ुशी लिया गया.

Advertisement

गाँव वालों ने इस फैसले को बाकायदा लिखित तौर पर थाने में पेश किया है ताकि भविष्य में आपसी विवाद न हो और भाईचारा बना रहे.

गांव के हेमंत शर्मा ने मीडिया को बताया- मंदिर पर 2 लाउडस्पीकर लगे हुए थे जबकि मस्जिद पर 7 लगे थे. जिसको ले कर विवाद की शुरुआत हुई. हिन्दू समुदाय ने कहा कि मस्जिद पर भी 2 लाउडस्पीकर लगा लो और बाकि उतार दो, परन्तु बात नहीं बनी.

Advertisement
youtube shorts kya hai

फिर मामले को गांव की पंचायत में ले जाया जहां पर यह फैसला लिया गया कि गांव में किसी भी धार्मिक आयोजन पर लाउडस्पीकर का प्रयोग नहीं होगा तथा मंदिर और मस्जिद दोनों से लाउड स्पीकर उतार दिए जाएंगे.

इस फैसले की सराहना प्रशासन ने भी की है तथा इससे आपसी भाईचारा बढ़ाने वाले फैसले के रूप में देखा जा रहा है.

Advertisement