Advertisement

मुंबई शहर का वर्णन करते हुए अपने चाचाजी को पत्र लिखिए for class 6,7,8,9,10,11,12

Mumbai shahar ka varnan karte hue apne chacha ji ko patra likhiye विषय पर विभिन्न कक्षाओं के छात्रों के लिए यहाँ पर पत्र लेखन के उदाहरण दिये गए हैं। पत्र लेखन के इन उदाहरणों के आधार पर आप विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी पत्र लेखन कर सकते हैं।

Advertisement

मुंबई शहर का वर्णन करते हुए अपने चाचाजी को पत्र लिखिए । (Class 6-8)

नवी मुंबई
पालिका हिल
मुंबई,

दिनांक – 20-6 -22

Advertisement

आदरणीय चाचाजी
नमस्ते ,

मैं यहाँ कुशल पूर्वक हूँ। आशा करता हूँ कि आप भी स्वस्थ और सानंद होंगे। मैं आपको अपने शहर के प्रमुख स्थलों के बारे में बताना चाहता हूँ । मुंबई शहर एक अत्यंत खूबसूरत शहर है । समुद्र के किनारे बसे इस शहर की सुंदरता देखते ही बनती है।मुंबई शहर की जान है यहाँ की डबल डेकर बसें।जब सवा रियों को लेकर यह बस आगे बढ़ती है तो मन रोमांच से भर उठता है।

Advertisement

मुंबई अपने जुहू बीच के लिए ज्यादा प्रसिद्ध है। जुहू बीच के किनारे बैठकर उठती गिरती लहरों का आनंद लेना अपने आप में सुखद होता है। मैं चाहता हूँ कि आप यहाँ आयें और आकर स्वयं ही यहाँ के खूबसूरत जगहों का आनंद उठायें। वास्तव में यह शहर बहुत सुंदर है।
शेष अगले पत्र में।

आपका भतीजा
मोहन
मुंबई शहर का वर्णन करते हुए चाचा जी को पत्र लिखे। (Class 9-10)

नवी मुंबई
पालिका हिल
मुंबई

दिनांक – 20-6 -22

Advertisement

आदरणीय चाचाजी
सादर प्रणाम,

आपका पत्र मिला और पढ़कर मन प्रसन्न हो गया कि घर में सभी कुशल है। मैं भी यहाँ छात्रावास की दिनचर्या में स्वयं को ढालने का प्रयास कर रहा हूँ।पिछले रविवार को मैं अपने सहपाठियों के साथ मुंबई भ्रमण पर निकला था। इस पत्र में मैं मुंबई शहर के कुछ प्रमुख स्थलों के बारे में आपको बताना चाहता हूँ। मुंबई शहर बहुत ही खूबसूरत शहर है। दिन के उजालों से बढ़कर यहाँ रात की रंगिनियाँ मशहूर है। इसे माया नगरी भी कहते है क्योंकि यहाँ आने वाला व्यक्ति यहीं का होकर रह जाता है।

मुंबई शहर का सबसे प्रसिद्ध स्थल है जुहू बीच। यह मुंबई की ह्रदयस्थली है। शाम होते ही यहाँ पर लोगों का आना जाना शुरू हो जाता है। जुहू बीच के किनारे हजरत मुहम्मद की दरगाह सांप्रदायिकता की अद्भुत मिसाल पेश करता है। मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थलों में गेटवे ऑफ इंडिया भी शामिल है। यह हिन्दू मुस्लिम एकता का भी प्रतीक है। समुद्र की लहरों की सैर करना हो तो यहाँ से नाव में बैठकर एलीफेंटा जा सकते है। मरीन ड्राइव भी यहाँ के प्रमुख स्थलों में शामिल है।यह भी यहाँ के सैलानियों को आकर्षित करता है। मैं चाहता हूँ कि आप भी यहाँ चाचीजी के साथ आयें और आकर इसकी खूबसूरती का आनंद उठायें। मुझे पूरा विश्वाश है कि यह शहर आपको अवश्य पसंद आएगा।
आपके आने की प्रतीक्षा में , चाचीजी को मेरा प्रणाम और छुटकी को मेरा आशीर्वाद कहिएगा।

आपका
कुशाग्र

मुंबई शहर का वर्णन करते हुए अपने चाचाजी को पत्र लिखिए । (Class 11-12 )

नवी मुंबई
पालिका हिल
मुंबई,

दिनांक – 20-6 -22

Advertisement

आदरणीय चाचाजी
सादर चरण स्पर्श,

मैं यहाँ कुशल पूर्वक हूँ और आपकी कुशलता की प्रार्थना करता हूँ। आशा ही नहीं पूरा विश्वास है कि घर में सब कुशल और आनंद होगा। आपने पिछले पत्र में मुझसे पूछा था कि तुमने इस बार की छुट्टियाँ कहाँ बिताईं।मैं आपको बताना चाहूँगा कि इस बार मैं अपने कुछ दोस्तों के साथ मुंबई घूमने गया था ।

एक हफ्ते के इस भ्रमण में बहुत मजा आया। मुंबई शहर तो अपने आप में ही अनोखा शहर है। इसे माया नगरी कहते है क्योंकि यह शहर लोगों को अपनी ओर खींचता है। मुंबई की खूबसूरती का क्या कहना, यहाँ के आकर्षण का केंद्र फिल्मिस्तान तो है ही साथ ही इसके खूबसूरत पर्यटक स्थल सैलानियों को आकर्षित करते है।यहाँ की डबल डेकर बसें, दूधिया रोशनी में नहाई रात्रि का उजाला ,जुहू बीच की खूबसूरती , मरीन ड्राइव की रौनक , गेटवे ऑफ इंडिया का आकर्षण सभी कुछ पर्यटकों को अपने में बांध लेता है। मुंबई शहर इतना बडा है कि इसकी खूबसूरती को एक पत्र में वर्णन करना बहुत मुश्किल है लेकिन फिर भी आपको इतना तो अंदाजा मिल गया होगा कि हमे एक बार अवश्य यहाँ घूमने का कार्यक्रम बनाना चाहिए।
मैं यहाँ की खूबसूरत स्थलों की कुछ तस्वीरें भी आपको भेज रहा हूँ।
चाची जी को मेरा प्रणाम कहना , मैं जल्द ही उनसे मिलने आऊँगा ।

Advertisement

आपका
प्रमोद

Patra lekhan in Hindi Class 6
Patra lekhan in Hindi Class 7
Patra lekhan in Hindi Class 8
Patra lekhan in Hindi Class 9
Patra lekhan in Hindi Class 10
Patra lekhan in Hindi Class 11
Patra lekhan in Hindi Class 12

पत्र लेखन के विषय (patra lekhan topics in Hindi), पत्र लेखन प्रारूप Patra Lekhan Formats, औपचारिक पत्र Aupcharik Patra, अनौपचारिक पत्र  Anaupcharik Patra आदि के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़ें:

पत्र लेखन PATRA LEKHAN | LETTER WRITING IN HINDI for FULL MARKS

औपचारिक एवं अनौपचारिक पत्र लेखन के 100 से अधिक उदाहरण 

आशा है कि मुंबई शहर का वर्णन करते हुए अपने चाचाजी को पत्र लिखिए विषय पर प्रस्तुत पत्र लेखन के उदाहरण आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगे। आप इन पत्रों में थोड़ी बहुत फेर-बदल कर मिलते जुलते विषयों पर पत्र लेखन के प्रश्न हल कर सकते हैं। इस पत्र लेखन से मिलते जुलते निम्न विषयों पर पत्र लेखन का अभ्यास आप कर सकते हैं जिनसे आपको परीक्षा में अच्छे अंक लाने में सहता मिलेगी जैसे – अपने पिताजी के स्थानांतरण पर नये विद्यालय में प्रवेश के लिये प्रार्थना पत्र लिखिए, टीसी के लिए आवेदन पत्र हिंदी में, स्कूल छोड़ने के लिए प्रमाण पत्र, नौकरी में स्थानांतरण हेतु आवेदन पत्र, स्थानांतरण प्रमाण पत्र हेतु आवेदन पत्र हिंदी में, कॉलेज छोड़ने के प्रमाण पत्र के लिए आवेदन, १२ वीं के बाद स्थानांतरण प्रमाण पत्र के लिए आवेदन, ट्रांसफर हेतु आवेदन पत्र

कृपया अपने सुझाव हमें अवश्य भेजें।

FAQs

कंपनी में एप्लीकेशन कैसे लिखा जाता है?
सविनय निवेदन है कि मैं राजेश कुमार हूँ हालही में मैंने बीटेक सिविल इंजीनियरिंग से पूरी की है मुझे पता चला है की आपके कम्पनी में सिविल इंजीनियर की आवश्यकता है इस पद के लिए मैं योग्य हूँ मैं आपके कार्य भार को पूरी जिम्मेदारी से सभालने का वादा करता हूँ मैं अपने शैक्षणिक योग्यता दस्तावेज और सीवी इसी प्रार्थना पत्र के पीछे
Advertisement

Leave a Reply