भाजपा सांसद ने मोदी की तानाशाही के खिलाफ खोला मोर्चा

Advertisement

महाराष्ट्र से एक भाजपा सांसद ने केंद्र में सत्तासीन भाजपा के प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आरोप लगाया है कि मोदी पसंद नहीं करते कि उनकी ही पार्टी का कोई सदस्य उनसे सरकार की नीतियों और उनके क्रियान्वयन के बारे में सवाल पूछे. लगभग तीन साल की भाजपा सरकार में पहली बार किसी पार्टी मेंबर ने खुलेआम मोदी की आलोचना करने का साहस दिखाया है.

nana patole modiमहाराष्ट्र के गोंदिया-भंडारा लोकसभा क्षेत्र से सांसद नाना पटोले ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी से किसानों की समस्या पर सवाल पूछे तो मोदी ने अपना आपा खो दिया और उन्हें झिडकते हुए मुंह बंद रखने को कहा (SHUT UP.

Advertisement

नाना पटोले ने कहा कि इस पार्टी मीटिंग में किसानों के हिट में कई प्रस्ताव रखे थे जैसे हरित टैक्स लगाना, कृषि क्षेत्र में केंद्र का बजट बढ़ाना और ओबीसी मंत्रालय की स्थापना आदि. लेकिन मोदी ने उनके प्रस्तावों पर ध्यान देने के बजाय उन्हें अपना मुंह बंद रखने को कहा.

प्रधान मंत्री से सवाल पूछे जाने पर वे असहज हो जाते हैं और पलट कर सवाल पूछते हैं कि क्या तुमने पार्टी का मैनिफेस्टो पढ़ा है? क्या तुम्हें सरकार की योजनाओं की जानकारी है?

नाना पटोले एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल से भाजपा के बढ़ती नजदीकियों से भी खफा चल रहे हैं जिनसे उनका पुराना छत्तीस का आंकड़ा है. नाना पटोले पुराने कोंग्रेसी हैं जो 2014 के चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे और प्रफुल्ल पटेल को गोंदिया-भंडारा से लोकसभा चुनाव में हराया था.

भाजपा की राज्य इकाई ने इस पर टिपण्णी करने से मना कर दिया और कहा कि लोकसभा सदस्य से सम्भंदित होने के कारण इस मामले में कार्यवाही का अधिकार पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व का है.

Advertisement
learn ms excel in hindi

शनिवार को नाना पटोले ने इस मसले को और आग देते हुए कहा कि “मुझे पता है कि मैं पार्टी की हिट लिस्ट में हूँ लेकिन मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता. मैं किसी से नहीं डरता. मैं इसीलिए मंत्री भी नहीं बना क्योंकि सारे केंद्रीय मंत्री दर की ज़िन्दगी जी रहे हैं.”

उन्होंने फडणवीस पर विदर्भ और यहां के किसानों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया. पटोले ने कहा कि मुख्यमंत्री फडणवीस ने नागपुर को मेट्रो रेल का तोहफा दिया लेकिन विदर्भा के हिस्से में प्रदूषित पानी आया.

नाना पटोले के सहयोगी संजय पुगलिया ने कहा कि नाना पटोले ने सच कहने की हिम्मत दिखाई है. उन्होंने कहा कि आज भाजपा में किसी की हिम्मत नहीं है कि मोदी के सामने सच कह पाए.

वहीं महाराष्ट्र के भाजपा नेता सुधीर मुंगटीवार ने कहा कि नाना पटोले गैर-जिम्मेदाराना हरकत कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनका व्यक्तिगत अनुभव नमोदी जी के साथ बहुत अच्छा रहा है. मोदी जी हमेशा पार्टी के जमीनी कार्यकर्त्ताओं की बात सुनते हैं और उनके द्वारा उठाये गए मुद्दों को गहराई से समझने की कोशिश करते हैं.कल के अपने बयान में पटोले ने मोदी के साथ साथ मुख्यमंत्री फडणवीस को भी निशाना बनाया था. पटोले ने कहा कि फडणवीस किसानों के प्रदर्शनों को ठीक से नहीं संभाल पाए. फडणवीस ने किसानों की दुर्दशा के मामले को केंद्र के सामने ठीक से नहीं उठाया.

Advertisement