महिलाएं ज्यादा सशक्त, महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता नहीं

दिल्ली/संसद भवन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को महिला जनप्रतिनिधियों के कार्यक्रम को संबोधित किया। इस दौरान संसद भवन के सेंट्रल हॉल में महिला सांसदों और विधायकों ने हिस्सा लिया।

Narendra Modi says women are stronger, do not need women empowermentमहिला जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा की महिलाओं को भगवान ने अद्भुत शक्ति दी है जिसकी वजह से वह हर कामों को आसानी से करने में सक्षम है। इसलिए उन्हें सशक्तिकरण की जरूरत नहीं है। वह पहले से ही सशक्त होती हैं।

उन्होंने कहा कि अगर महिलाओं का मौका दिया जाए तो वह अपनी क्षमता को साबित कर सकती हैं। राष्ट्र को सशक्त बनाने में राष्ट्र के नागरिकों का अहम योगदान होता है और उन नागरिकों को बनाने में महिलाओं का अहम योगदान होता है।

मोदी ने महिलाओं की क्षमता की तारीफ करते हुए कहा कि विषम परिस्थितियों में महिलाएं हमेशा अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करती हैं। यह नया दौर तकनीक है और किसी भी व्यक्ति के जीवन में यह अहम योगदान निभा रहा है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है पुरुषों की तुलना में महिलाएं तकनीक को जल्दी अपना सकती हैं।’

महिला जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए मोदी कहा मुझे नहीं पता कि किसी यह सर्वे किया है कि नहीं, ‘लेकिन मुझे लगता है कि जिन महिलाओं को मौके दिए गए हैं उनकी सफलता का अनुपात पुरुषों से ज्यादा ही होगा।’ उन्होंने कहा, ‘क्या हम महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए एक ई-प्लेटफॉर्म नहीं तैयार कर सकते?’

यह भी पढ़िए –  नरेंद्र मोदी ने भारत को अंतर्राष्ट्रीय जगत में दिलाया सम्मान

संबोधन के दौरान लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज समेत कई महिला जनप्रतिनिधि सेंट्रल हाल में मौजूद थे। मोदी ने वहां मौजूद सभी महिला जनप्रतिनिधिओं और उनके द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना भी की और आगे भी देश के विकास में योगदान निभाते रहने की बात कही।