ऑपरेशन प्राहार: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 12 से अधिक नक्सलवादी मारे गए

सुकमा: रविवार को सुरक्षा कर्मियों द्वारा छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 12 से अधिक नक्सलवादी मारे गए। ऑपरेशन को ऑपरेशन प्राहार का नाम दिया गया। इससे पहले नक्सलियों ने तौंडमाराका में घायल सैनिकों के बचाव के लिए तैनात आईएएफ हेलीकॉप्टर पर गोलीबारी की।

ऑपरेशन प्राहार: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 12 से अधिक नक्सलवादी मारे गए

इस बीच रायपुर में छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में पुलिस जवान घायल हो गए। रविवार होने की वजह से बताया जा रहा है कि तीनो घायल सैनिक शहीद हो गए| छुट्टी कि वजह से वहां साधन उपलब्ध नहीं हो पाए|

ऑपरेशन प्रहार कि वजह से नक्सलवादी सदमे में है

राज्य में कल नक्सलवादियों और पुलिस के बीच चार अलग-अलग मुठभेड़ों की खबर आई है| जिसमें तीन सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई है और एक उप निरीक्षक सहित सात घायल हो गए हैं। इन मुठभेड़ों में दो नक्सलियों को भी मार गिराया गया है। कल दो मुठभेड़ सुकमा में हुए, जबकि कई अन्य बीजापुर में हुआ।

विशेष कार्य बल (एसटीएफ), डीआरजी, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और इसके अभिजात वर्ग इकाई- कोबरा (रिमोल्यूट एक्शन के लिए कमांडो बटालियन) के एक संयुक्त दल ने कल माओवादी के स्थान के बारे में जानकारी के आधार पर ऑपरेशन प्रहार चलाया। रायगढ़ से करीब 500 किमी दूर, चिंटुगुफा के अंदरूनी हिस्सों में नक्सलवादी छिपे होने की खबर है| जब सुरक्षाकर्मी दोंडमराका के वन के माध्यम से आगे बढ़ रहे थे| एक माओवादी अड्डा, सशस्त्र नक्सलियों ने उन पर गोलीबारी की। जिसमे कई सैनिक घायल हो गए| दो डीआरजी जवानों की मौत हो गई और कई अन्य के चोट लगीं।

पुलिस के उप महानिरीक्षक (दंतेवाड़ा रेंज) सुंदरराज ने कहा, दो डीआरजी जवान शुरू में शहीद गए थे और कई अन्य लोग घटना में घायल हुए थे। बाद में घायलों में से एक को जंगल से निकाला गया| उन्होंने कहा कि आज सुबह शिविर में पहुंचने के बाद से माओवादियों के साथ भारी गोलीबारी में टीम लगी हुई है। उन्होंने कहा, तीन डीआरजी जवान शहीद हो गए है और एक अन्य घायल हो गए है। एक नक्सली का शरीर भी एसएलआर हथियार के साथ उस जगह से बरामद किया गया है|