Advertisement

Samvad Lekhan परीक्षा भवन के बाहर दो छात्रों के बीच संवाद – संवाद लेखन

Parkisha bhawan ke bahar do chhatron ke beech samvad- Samvad Lekhan

मनु : रोहित, आज की परीक्षा के लिए तो मुझे बहुत ही घबराहट हो रही है ।

रोहित : आज तुम्हारा ही नहीं अधिकतर बच्चों का यही हाल है ।

Advertisement

मनु : हाँ रोहित, तुम सही कह रहे हो । गणित है ही ऐसा विषय ।

रोहित : ऊपर से गणित के अध्यापक छोटी सी गलती होने पर भी पूरा सवाल काट कर ज़ीरो दे देते हैं ।

Advertisement

मनु : कक्षा में ड्यूटी भी तो उन्ही की लगी हुई है ।

रोहित : इतने कड़क हैं गणित के अध्यापक कि जरा सी गर्दन इधर – उधर घुमाई नहीं कि कॉपी ही छीन लेते हैं ।

Advertisement

मनु : सही में, आधा प्रश्नपत्र तो इसी वजह से गड़बड़ा जाता है ।

रोहित : मैं तो इसी चक्कर में आज पानी की बोतल तक नहीं लाया । कहीं पानी पीने के चक्कर में करी-कराई मेहनत पर ही पानी ना फिर जाये ।

मनु : वैसे भी मास्टर जी ने सबको डरा रखा है कि यदि किसी के ज़रा भी कम अंक आये तो माता-पिता को बुलवाकर उनकी शिकायत करेंगे ।

Advertisement

रोहित : हाँ मनु, नम्बर कम आने पर तो घर में वैसे ही डांट पड़ती है, ऊपर से अगर मास्टर जी ने माता-पिता को बुलवा दिया तब तो थोड़ा-बहुत जो टेलीविजन या खेल कूद होता है, सब बंद हो जाएगा ।

मनु : इसीलिए मैंने जी-जान लगा कर गणित की परीक्षा की तैयारी करी है ।

रोहित : चलो-चलो जल्दी से एक बार फार्मूले रिवाइज़ कर लें । बस घंटी बजने में दस मिनट ही बचे हैं ।

यह संवाद लेखन विद्यार्थियों के लिए निम्न विषयों पर उपयोगी होगा – Samvad Lekhan, samvad lekhan meaning, samvad lekhan in hindi for class 8, samvad lekhan meaning in english, samvad lekhan in hindi for class 7, samvad lekhan format class 9, samvad lekhan marathi, shunya kachra samvad lekhan, 5 samvad lekhan, samvad lekhan in hindi for class 6, samvad lekhan in hindi for class 5, samvad lekhan in hindi for class 10

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.