Samvad Lekhan पशु पक्षियों के प्रति विनम्र व्यवहार को लेकर दो मित्रों के बीच हुई बातचीत को संवाद के रूप में लिखिए – संवाद लेखन

Pashu pakshiyon ke prati vinarm vyavahar ko lekar do mitraon ke beech hui baatchit ko samvad ke roop mein likhiye- Samvad Lekhan

विजय : सक्षम तुम्हे पता है आज सुमित ने एक कुत्ते के बच्चे को इतनी तेज पत्थर मारा कि वो वहीँ तिलमिला कर मर गया और उसकी माँ उसे काफी दे तक चाट-चाट कर प्यार करती रही कि शायद अभी उठ जाये ।
सक्षम : सुमित के तो यही काम होते हैं । पिछले महीने उसने एक चिड़िया को गुलेल से मार गिराया था । उसके अन्दर पशु-पक्षियों के प्रति जरा भी दया नहीं है ।
विजय : आखिर पशु-पक्षियों में भी तो जान ही होती है । उन्हें भी हमारी तरह दर्द होता है और भावनाएं होती हैं, बस वे हमारी तरह उसे बयान नहीं कर पाते । जब तक हम जानवरों को परेशान नहीं करते तब तक वे भी आक्रमण नहीं करते ।
सक्षम : सही कह रहे हो विजय । दूसरी तरफ माया है । वह गर्मियों में अपने घर के बाहर पशु–पक्षियों के लिए एक मिटटी के बर्तन में पानी भर कर और छत पर भी एक बर्तन में चिड़ियों के लिए दाना और एक बर्तन में पानी भर कर रखती है जिससे पशु-पक्षियों को प्यास से बेहाल ना होना पड़े ।
विजय : हाँ सक्षम, कल मैंने कई बार देखा है कि माया छोटे-छोटे कुत्ते के बच्चों को सड़क से उठा कर खाली प्लाट में छोड़ देती है जिससे उन्हें कोई टक्कर ना मार पाए । कई बार तो वह पशु-पक्षियों को लेकर जानवरों के डॉक्टर तक गई है । हम सबको पशु-पक्षियों के प्रति इसी तरह दया भाव रखना चाहिए ।

यह संवाद लेखन विद्यार्थियों के लिए निम्न विषयों पर उपयोगी होगा – Samvad Lekhan, samvad lekhan meaning, samvad lekhan in hindi for class 8, samvad lekhan meaning in english, samvad lekhan in hindi for class 7, samvad lekhan format class 9, samvad lekhan marathi, shunya kachra samvad lekhan, 5 samvad lekhan, samvad lekhan in hindi for class 6, samvad lekhan in hindi for class 5, samvad lekhan in hindi for class 10

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *