जब RTI में पुछा गया कि क्या सरकार के मंत्रियों के पास आधार कार्ड है? यह रहा जवाब

पूरे देश को आधारकार्ड से जबरदस्ती जोड़ने वाले प्रधानमंत्री के कार्यालय को नहीं पता कि उनके मंत्रियों के पास आधार कार्ड है भी या नहीं.

RTI के माध्यम से जब PMO से यह पुछा गया कि क्या प्रधानमंत्री तथा उनके कैबिनेट के मंत्रियों के पास आधार कार्ड है तो पहले तो इस RTI एप्लीकेशन को अलग अलग डिपार्टमेंट में भेज कर मामले की लीपापोती करने की कोशिश की गयी परन्तु अंततः एक गोल मटोल सा जवाब दे दिया गया.

अभी हाल ही में झारखण्ड में एक 11 वर्षीय बच्ची संतोषी कुमारी की भूख से मौत इस वजह से हो गयी थी क्यूंकि उसका परिवार आधार कार्ड से जुड़ा नहीं था. इस वजह से उसे राशन देने से मना कर दिया गया था.

RTI एक्टिविस्ट अनिल गलगली ने जब RTI के माध्यम से PMO से सवाल पुछा तो अंततः उन्हें यह जवाब मिला कि PMO की इसपर खुद की जानकारी शून्य है. हालाँकि प्रधानमंत्री मोदी के आधारकार्ड पर यह जवाब आया है कि प्रधानमंत्री का आधार कार्ड तो है परन्तु रति के अधिनियम 8(A)(1) के अनुसार अधिकारीयों को इसका खुलासा नहीं करने की छूट है.

हालांकि श्री गलगली ने आधार नंबर या प्रधान मंत्री सहित किसी के व्यक्तिगत विवरण के लिए कभी नहीं पूछा। उन्होंने उन केंद्रीय मंत्रियों की सूची के लिए पुछा था जिनके पास अपना आधार कार्ड है.

ये रहे श्री गलगली द्वारा दायर किये गए आवेदन और उनके जवाब