जब RTI में पुछा गया कि क्या सरकार के मंत्रियों के पास आधार कार्ड है? यह रहा जवाब

Advertisement

पूरे देश को आधारकार्ड से जबरदस्ती जोड़ने वाले प्रधानमंत्री के कार्यालय को नहीं पता कि उनके मंत्रियों के पास आधार कार्ड है भी या नहीं.

RTI के माध्यम से जब PMO से यह पुछा गया कि क्या प्रधानमंत्री तथा उनके कैबिनेट के मंत्रियों के पास आधार कार्ड है तो पहले तो इस RTI एप्लीकेशन को अलग अलग डिपार्टमेंट में भेज कर मामले की लीपापोती करने की कोशिश की गयी परन्तु अंततः एक गोल मटोल सा जवाब दे दिया गया.

Advertisement

अभी हाल ही में झारखण्ड में एक 11 वर्षीय बच्ची संतोषी कुमारी की भूख से मौत इस वजह से हो गयी थी क्यूंकि उसका परिवार आधार कार्ड से जुड़ा नहीं था. इस वजह से उसे राशन देने से मना कर दिया गया था.

RTI एक्टिविस्ट अनिल गलगली ने जब RTI के माध्यम से PMO से सवाल पुछा तो अंततः उन्हें यह जवाब मिला कि PMO की इसपर खुद की जानकारी शून्य है. हालाँकि प्रधानमंत्री मोदी के आधारकार्ड पर यह जवाब आया है कि प्रधानमंत्री का आधार कार्ड तो है परन्तु रति के अधिनियम 8(A)(1) के अनुसार अधिकारीयों को इसका खुलासा नहीं करने की छूट है.

हालांकि श्री गलगली ने आधार नंबर या प्रधान मंत्री सहित किसी के व्यक्तिगत विवरण के लिए कभी नहीं पूछा। उन्होंने उन केंद्रीय मंत्रियों की सूची के लिए पुछा था जिनके पास अपना आधार कार्ड है.

ये रहे श्री गलगली द्वारा दायर किये गए आवेदन और उनके जवाब

Advertisement