प्रधानमंत्रीजी,न खाएंगे और न खाने देंगे के नारे का क्‍या हुआ ‘  लालू यादव…

Advertisement

सरकारी एजेंसियों की बढ़ती दबिशों के बीच परेशान लालू और उनका परिवार,एक बार फिर आक्रामक होते दिख रहे हैं.मंगलवार को ‘सेल्फी विद सीएम’ मसला काफी गरमा गया था.

  इसी मसले को लेकर लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सीधा धावा बोला दिया था,और अब लालू ने खुद नीतीश के खास सिपहसालारआरसीपी सिंह के खिलाफ हल्ला बोल दिया है.

Advertisement

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार लालू ने खुलेआम आरोप लगाया हैं की JDU सांसद रामचंद्र प्रसाद सिंह डीएम और एसपी वगैरह से वसूली करते हैं.लालू प्रसाद यादव ने कहा की शराब बंदी नीतीश कुमार के काबू से बाहर है.

लालू ने मुख्यमंत्री को आरक्षण विरोधी बता दिया हैं.लालू का आरसीपी सिंह पर गंभीर आरोप हैं कि शराब माफिया का पैसा आरसीपी सिंह के पास पहुंचता है.और सृजन घोटाले का पैसा भी आरसीपी सिंह तक पहुंच चुका है.

लालू का आरोप हैं कि आरसीपी सिंह राज्य में शराब और बालू माफिया को संरक्षण देते हैं.लालू प्रसाद के अनुसार बिहार में शराब की होम डिलीवरी हो रही है,और स्कूली बच्चे शराब माफिया के एजेंट बन रहे हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री ने  भी कहा कि चुनाव के वक्त छापेमारी के डर से आरसीपी सिंह गायब थे,लेकिन अब सभी जिलों के एसपी-डीएम से आरसीपी सिंह पैसा वसूलते हैं.

Advertisement
learn ms excel in hindi

उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि पटना के एसएसपी JDU प्रवक्ताओं के घरों पर छापे मारकर दिखाएं,क्योंकि वहां हर शाम शराब पार्टी होती है.

लालू प्रसाद इन सभी आरोपों के अलावा बुधवार को JDU की अंदरूनी लड़ाई में भी कूद पड़े.बागी तेवर अपनाए बैठे बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी और पूर्व मंत्री व JDU विधायक श्याम रजक द्वारा पार्टी के खिलाफ बोले जाने को लालू ने सही ठहराया है.

उन्होंने कहा कि वह JDU के सभी दलित नेताओं के साथ हैं,और ये दोनों नेता सही बोल रहे हैं. लालू को सीबीआई की पूछताछ से परेशानी,नहीं हैं लालू ने अपने अंदाज़ मे कहा की कम से कम वो खैनी तो खिलाते ही हैं.

जय शाह मामले पर लालू यादव का तंज भरा जवाब था की ,प्रधानमंत्रीजी, न खाएंगे और न खाने देंगे के नारे का क्‍या हुआ.

 

Advertisement