किसका स्वराज अभियान रोकेगा अरविन्द केजरीवाल को पंजाब विधान सभा चुनाव जीतने से

आम आदमी पार्टी से मुकाबला करने की तैयारी उनके बिछड़े हुए अपने साथी कर रहे हैं। वे पंजाब विधानसभा चुनाव में पार्टी से दो-दो हाथ करने के मूड में दिख रहे हैं।

Prashant Bhushan and Yogendra Yadav to fight Punjab Election to weaken Kejriwalपंजाब में जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आता जा रहा है, वहां राजनीतिक हलचलें बढ़ती जा रही हैं। आम आदमी नेता योगेन्द्र यादव और प्रशांत भूषण की जोड़ी खुद को राजनीतिक बनाने पर विचार कर रही है। ऐसी चर्चाओं से अब जोर पकड़ लिया है कि वे जल्द इसका औपचारिक ऐलान कर सकते हैं।

खबर यह भी है कि इसके लिए स्वराज अभियान के कई नेता आपस में मंथन करने में जुटे हैं। वे सही मौके की तलाश में हैं। उनके सामने कई समस्यायें हैं जिन्हें वे जल्द सुलझाने की सोच रहे हैं।

योगेन्द्र यादव को आम आदमी पार्टी से निलंबित किया जा चुका है। वे कभी अरविन्द केजरीवाल के सबसे करीबी माने जाते थे। उसी तरह प्रशांत भूषण भी पार्टी से बाहर हैं। ये दोनों नेता आप के ‘अपने’ थे जो अब बिछड़ कर उनके खिलाफ नये मोरचे की तैयारी कर रहे हैं जो राजनीतिक मोरचा हो सकता है।