Rahim ke dohe पावस देखि रहीम मन, कोइल साधे मौन।

Rahim ke dohe in Hindi:

पावस देखि रहीम मन, कोइल साधे मौन।
अब दादुर वक्ता भए, हम को पूछत कौन।।

Pavas dekhi rahim man, koil sadhe moun
Ab dadur vakta bhaye, ham ko poochat koun

रहीम के दोहे का अर्थ:

यदि आपसे कोई अनर्गल बोल रहा है तो चुप रहना ही श्रेयस्कर है। इसी प्रकार यदि आसपास निरर्थक वार्तालाप चल रहा हो तो ऐसे अवसर पर भी मौन धारण करना चाहिए।

रहीम कहते हैं कि पावस देखकर एकाएक कोयल ने मौन धारण कर लिया। क्योंकि चारों ओर मेढ़कों के स्वर गूंज रह थे। कोयल का विचार है, अब जब मेंढ़क की वक्ता बन बैठें हों तो ऐसी स्थिति में हमें कौन पूछेगा।

Rahim ke dohe रहीम के 25 प्रसिद्ध दोहे अर्थ व्याख्या सहित

25 Important परीक्षा में पूछे जाने वाले रहीम के दोहे :

अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं और विद्यालयी परीक्षाओं में रहीम के दोहे संबन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं जिनमें मार्क्स लाना आसान होता है किन्तु सही जानकारी और अभ्यास के अभाव में अक्सर विद्यार्थी रहीम के दोहों के प्रश्न में अंक लाने में कठिनाई अनुभव करते हैं। हमने प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले रहीम के दोहों को अर्थ एवं व्याख्या सहित संग्रहीत किया है जिनका अभ्यास करके आप पूर्ण अंक प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *