Rahim ke dohe रहिमन देखि बड़ेन को, लघु न दीजिए डारि।

Rahim ke dohe in Hindi:

रहिमन देखि बड़ेन को, लघु न दीजिए डारि।
जहां काम आवे सुई, कहा करे तलवारि।।

Rahiman dekh baden ko, kaghu na dijiye daari
Jahaan kam aave sui, kahaa kare talwari

रहीम के दोहे का अर्थ:

99 बड़ी इकाई है और 1 छोटी इकाई। किंतु छोटी इकाई होने के कारण 1 को महत्वहीन नहीं मानना चाहिए, क्योंकि 1 के अभाव में 99 कभी नहीं बन सकेगा। प्रायः लोग आकार देखकर महत्व का निर्धारण करते हैं, जबकि दीर्घ व लघु दोनों आकारों का अपना अपना महत्व है।

रहीम कहते हैं, बड़े को देखकर लघु को हाषिएक की ओर नहीं धकेलना चाहिए। दोनों का समान रूप से उपयोग है। सुई लघु है और तलवार दीर्घ। किंतु जहां सुई काम आ सकती है, वहां तलवार क्या कर सकती है।

Rahim ke dohe रहीम के 25 प्रसिद्ध दोहे अर्थ व्याख्या सहित

25 Important परीक्षा में पूछे जाने वाले रहीम के दोहे :

अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं और विद्यालयी परीक्षाओं में रहीम के दोहे संबन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं जिनमें मार्क्स लाना आसान होता है किन्तु सही जानकारी और अभ्यास के अभाव में अक्सर विद्यार्थी रहीम के दोहों के प्रश्न में अंक लाने में कठिनाई अनुभव करते हैं। हमने प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले रहीम के दोहों को अर्थ एवं व्याख्या सहित संग्रहीत किया है जिनका अभ्यास करके आप पूर्ण अंक प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *