राहुल गांधी अनुमति के बावजूद उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के लिए रवाना

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश सरकार की अनुमति से वंचित होने के बावजूद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को सहारनपुर जिले के हिंसाग्रस्त गांवों की यात्रा शुरू की| जहां जाति के संघर्ष में दो लोगो की मौतहो गई थी और कई घायल हो गए हैं। यूपी कांग्रेस प्रमुख राज बब्बर और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी उनके साथ हैं।

राहुल गांधी अनुमति के बावजूद उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के लिए रवाना

सरकार ने शुक्रवार को राहुल गांधी को अनुमति नहीं दी थी। हालांकि, कांग्रेस पार्टी ने इस फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राहुल गांधी को सहारनपुर पहुंचने से रोक नहीं सकते। ऐडवर्गी महानिदेशक (एडीजी) कानून और व्यवस्था आदित्य मिश्रा ने स्पष्ट किया है कि जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती| हिंसागत क्षेत्र के लिए नेताओं को यहाँ आने-जाने की रोक राज्य सरकार की निति के अंतर्गत की गई है|

सूत्रों ने बताया कि बहुजन समाज पार्टी (मायावती) की मायावती की यात्रा के तुरंत बाद हिंसा फैल गई| मुख्यमंत्री कार्यालय ने जिला अधिकारियों से कहा कि भविष्य में इस क्षेत्र का दौरा करने के लिए राजनीतिक नेताओं को अनुमति नहीं दी जाए। सहारनपुर के नव-नियुक्त एसएसपी बबलू कुमार ने भी कहा कि यदि कांग्रेस नेता अभी भी सहारनपुर आने की कोशिश कर रहे हैं| तो उन्हें हवाई पट्टी पर ऐसा करने से रोका जा सकेगा।

क्या राहुल गाँधी के साथ अखिलेश यादव भी जायेंगे सहारनपुर

अटकले लगाई जा रही है कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के साथ पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी सहारनपुर में हिंसागत क्षेत्र का दौरा कर सकते है| इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी एल पुनिया को सहारनपुर जाने की अनुमति नहीं दी गई थी। सरकार ने कहा है कि जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती| हम किसी भी नेता को वहां जाने कि अनुमति नहीं दे सकते|