ramnath kovind

राम नाथ कोविन्द का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के एक छोटे से गाँव परौंख में हुआ था। कोविन्द का सम्बन्ध कोरी या कोली जाति से है जो उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के अंतर्गत आती है। रामनाथ कोविंद 20 जुलाई 2017 को भारत के 14वे राष्ट्रपति चुने गए.

वकालत की उपाधि लेने के बड़ा उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारम्भ की। 1977 से 1979 तक कोविंद दिल्ली हाई कोर्ट में केंद्र सरकार के वकील रहे। 8 अगस्त 2015 को उनकी नियुक्ति बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्ति हुई। उन्होनें संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा भी तीसरे प्रयास में ही पास कर ली थी.

श्री रामनाथ कोविंद वर्ष 1991 में भाजपा में शामिल हुए तथा वर्ष 1994 तथा वर्ष 2000 में उत्तर प्रदेश राज्य से राज्य सभा के निर्वाचित हुए। इस प्रकार कोविन्द लगातार 12 वर्ष तक राज्य सभा के सदस्य रहे। वह भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे। श्री कोविन्द का नाम भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 19 जून 2017 को एनडीए के सर्वसम्मत राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में घोषित किया। 20 जुलाई 2017 को विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को हरा कर भारत के राष्ट्रपति बने

Rashtrapati Ramnath Kovind par nibandh