रानी पद्मिनी ने अन्य स्त्रियों के साथ आत्म-सम्मान और गौरव को मृत्यु से ऊपर रखते हुए,जौहर कर लिया…

जिस तरह लोग फिल्म पद्मावती के ट्रेलर को पसंद कर रहे हैं ,उससे लगता हैं फिल्म काफी अच्छी होगी,भव्य सेट और एक रानी के रूप मे दीपिका बेहद खूबसूरत नज़र आ रही हैं.

पद्मावती’ आनेवाली एक भारतीय ऐतिहासिक फिल्म है जिसका निर्देशन संजय लीला भंसाली ने किया है.यह फ़िल्म 1 दिसम्बर 2017 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी।

 

इस फ़िल्म में चित्तौड़ की प्रसिद्द राजपूत रानी पद्मिनी का वर्णन किया गया है जो रावल रतन सिंह की पत्नी थीं। यह फ़िल्म  दिल्ली सल्तनत के तुर्की शासक अलाउद्दीन खिलजी का १३०३ ई. में चित्तौड़गढ़ के दुर्ग पर आक्रमण को दर्शाती है.

पद्मावत के अनुसार, चित्तौड़ पर अलाउद्दीन के आक्रमण का कारण रानी पद्मिनी के अनुपन सौन्दर्य के प्रति उसका आकर्षण था.

28 जनवरी 1303 ई. को सुल्तान चित्तौड़ के क़िले पर अधिकार करने में सफल हुआ.राणा रतन सिंह युद्ध में शहीद हुये और उनकी पत्नी रानी पद्मिनी ने अन्य स्त्रियों के साथ आत्म-सम्मान और गौरव को मृत्यु से ऊपर रखते हुए जौहर कर लिया।

जोहर मध्यकाल में राजपूतों में प्रचलित एक प्रथा थी,जिसमें अपने राज्य या गढ़ की पराजय तथा शत्रु की विजय निश्चित होने पर स्त्रियाँ अपमान से बचने के लिए जलती हुई एक विशाल चिता में सामूहिक रूप से भस्म हो जाया करती थीं

फ़िल्म का निर्माण जुलाई २०१६ में शुरू हुआ था. फिल्म निर्माण के दौरान लोगो का विरोध भी झेलना पड़ा. जनवरी २०१७ में जयपुर में फिल्म की शूटिंग के दौरान श्री राजपूत करणी सेना के कुछ सदस्यों ने फिल्म का विरोध किया.

और जयगढ़ दुर्ग में फिल्म के सेट पर तोड़फोड़ की। उन्होंने आरोप लगाया की फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गयी है।लेकिन  बाद मे फिल्म के निर्माताओं ने यह आश्वासन दिलाया की फिल्म में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं होगा.

६ मार्च २०१७ को इन सदस्यों ने फिर से चित्तौड़गढ़ किला का भंडाफोड़ किया और रानी पद्मिनी के महल में स्थापित दर्पण को तोड़ दिया था । भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधिकारियों के मुताबिक, इन दर्पणों को लगभग ४० साल पहले चित्तौड़गढ़ किले में रखा गया था।

१५ मार्च २०१७ को अज्ञात लोगों के एक समूह ने फिर से तोड़फोड़ की और कोल्हापुर में इस फिल्म के सेट पर आग लगा दी जिससे उत्पादन सेट, वेशभूषा और गहने जल गए।

जिस के नुकसान की वजह से फिल्म का उत्पादन बजट १६० करोड़ से बढ़कर २०० करोड़ हो गया है, और अब यह सबसे महंगी बॉलीवुड फिल्म होने की उम्मीद की जा रही है।

इस फिल्म का  निर्माण भंसाली प्रोडक्शन्स और वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स ने किया है। फ़िल्म में मुख्य भूमिका में दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह हैं.

राजा मुराद अलाउद्दीन खिलजी की एक शसक्त भूमिका मे नज़र आएंगे,जिस तरह उनकी आवाज़ हैं ये भूमिका उनपर बिलकुल फिट बैठती हैं,

फिल्म के गानों के संगीतकार संजय लीला भंसाली हैं। गायिका श्रेया घोषाल फ़िल्म के लिए पहले से ही एक गाना रिकॉर्ड कर चुकीं हैं।

दीपिका पादुकोण फ़िल्म में पारम्परिक राजस्थानी लोकनृत्य घूमर करती हुईं दिखाई गई हैं। , “फ़िल्म में बहुत ही खूबसूरत गानें हैं। फ़िल्म में लोकसंगीत और प्रभावशाली वाद्य यंत्रों का अद्भुत संयोजन है।