संकर और शंकर में अंतर – श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

Advertisement

संकर और शंकर में क्या अंतर है – समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म

संकर का अर्थ – दोगला/मिश्रित

शंकर का अर्थ – शिव

संकर का वाक्य प्रयोग-

दो भाषाओं से मिलकर बने शब्द को संकर शब्द कहते हैं।

Advertisement

शंकर का वाक्य प्रयोग-

शंकर शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवता हैं।

sankar ka arth – dogla/mishrit

shankar ka arth – shiv

Advertisement

संकर और शंकर शब्द युग्म के बारे में विभिन्न परीक्षाओं में कई प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं। जैसे –

संकर का अर्थ, शंकर का अर्थ, संकर और शंकर में अंतर बताइये, संकर का वाक्य प्रयोग, शंकर का वाक्य प्रयोग, संकर और शंकर श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म में अंतर स्पष्ट कीजिये, आदि।

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

500 श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

10 Important शब्द युग्म जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

Advertisement