सन्लग्न का शुद्ध रूप, सन्लग्न शब्द का वर्तनी शोधन

Advertisement

सन्लग्न शब्द का शुद्ध रूप क्या है? sanlagn ka shudh roop

सन्लग्न शब्द का शुद्ध रूप क्या है?
सन्लग्न शब्द का शुद्ध रूप है – संलग्न

सन्लग्न शब्द में कौन सी अशुद्धि है?
सन्लग्न शब्द में वर्तनी की अशुद्धि है।

सन्लग्न शब्द क्यों अशुद्ध है?सन्लग्न की वर्तनी अशुद्ध क्यों है?
सन्लग्न शब्द में बिन्दु, चन्द्रबिन्दु या अंतिम नासिक्य वर्ण के परिवर्तन की अशुद्धि : (किसी वर्ग के अन्तिम नासिक्य वर्ण के स्थान पर अन्य नासिक्य वर्ण लगाने या सही स्थान पर अनुस्वार नहीं लगाने तथा उचित स्थान पर चन्द्रबिन्दु का उपयोग न करने के कारण) हुई है।

सुनने और बोलने (श्रवण और उच्चारण) के कारण शब्दों में कई अशुद्धियाँ (त्रुटियाँ – गलतियाँ) आ जाती हैं। हिन्दी की मात्राओं एवं व्याकरण के ज्ञान की कमी प्रायः इन शब्द और वर्तनी की अशुद्धियों का मुख्य कारण होती है।

Advertisement

कक्षा 5,6,7,8,9 एवं 10 के विद्यार्थियों के लिए विभिन्न प्रकार की शब्द की अशुद्धियों के अशुद्धि शोधन की जानकारी निम्न लेखों में दी गई है:

Shudh Ashudh for Class 5
Shudh Ashudh for Class 6
Shudh Ashudh for Class 7
Shudh Ashudh for Class 8
Shudh Ashudh for Class 9
Shudh Ashudh for Class 10

222 Important अशुद्धि शोधन शब्द जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं, निम्न प्रकार है:

Advertisement