सप्ताह में सात दिन ही क्यों? why 7 days of week in Hindi

Advertisement

Saptaah mein sat din kyon hote hain? (Why 7 days of week in Hindi)

हिन्दी पंचांग व इंग्लिश केलेंडर दोनों के अनसुार सप्ताह में सात दिन होते हैं। इंग्लिश कैलेंडर के अनुसार रविवार सप्ताह का आखिरी दिन होता है व हिन्दू कैलेंडर के अनसुार पहला लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि हिन्दू धर्मशास्त्रों व ज्योतिष के अनुसार सप्ताह में सात दिन ही क्यों होते हैं? दरअसल, ज्योतिष में ग्रहों की संख्या नौ मानी गई है, जो इस प्रकार हैं शनि, बृहस्पति, मंगल, शुक्र, बुध, चंद्र, सूर्य, राहु और केतु।

7 days of week in hindiइनमें से राहु और केतु छाया ग्रह माना गया है। इसलिए इनका प्रभाव हमारे जीवन पर छाया के समान ही पड़ता है। इसलिए उस समय ज्योतिषाचार्य ज्योतिषियों ने ग्रहों के आधार पर सप्ताह में सात दिन निर्धारित किए लेकिन उसके बाद समस्या यह थी कि किस ग्रह का दिन कौन सा माना जाए तो ज्योतिषियों ने होरा के उदित होने के अनुसार दिनों को बांटा।

Advertisement

एक दिन में 24 होरा होता है। हर होरा एक घंटे की होती है। दिन उदित होने के साथ जिस ग्रह की पहली होरा होती है। वह उसी ग्रह का माना जाता है। सोमवार के दिन की शुरूआत चंद्र की होरा के साथ होती है। इसीलिए उसे सोमवार नाम दिया गया। मंगलवार के दिन पहली होरा मंगल की होती है, उसे मंगलवार कहते हैं। इसी तरह बुध, गुरू, शुक्र, शनि, रवि की शुरूआत इन्हीं ग्रहों के अनुसार होती है। इस तरह सात ग्रहों की होरा उदित होने के कारण उस दिन को उस ग्रह का प्रधान मानकर उसका नाम दिया गया। इन कारणों से सप्ताह में सात दिन होते हैं।

Advertisement