Advertisement

INDIA-PAKISTAN-DIPLOMACYइस्लामाबाद (9 फरवरी) : पठानकोट में हुए हमलों में पाकिस्तान की संलिप्तता के सबूत मिलने के बाद जहाँ भारत के राजनितिक गलियारे में बवाल छिड़ गया है वही अधिकांश लोग पाकिस्तान से हर तरह के सम्बन्ध तोड़ने का समर्थन कर रहे हैं!

पर इसी बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने शुक्रवार को नेशनल असेंबली में उम्मीद जताई कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार ही होगी।

अज़ीज़ ने कहा कि पठानकोट आतंकी हमले की वजह से भारत-पाक के बीच 15 जनवरी की विदेश सचिव स्तर की वार्ता नहीं रुकेगी। अज़ीज़ ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच फिर शुरू हो रही द्विपक्षीय बातचीत में कश्मीर और अन्य गंभीर मुद्दे शामिल रहेंगे।

पाकिस्तानी अखबार द नेशन की रिपोर्ट के मुताबिक अज़ीज़ ने यह घोषणा पाकिस्तान की ओर से पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले की जांच शुरू किए जाने के बाद की गई है।

Advertisement
Advertisement