Samvad Lekhan स्कूल में प्रवेश की समस्या के सम्बन्ध में अभिभावकों की बातचीत को संवाद के रूप में लिखिए – संवाद लेखन

School mein pravesh ki samsya ke sambandh mein abhibhavkon ke baatcheet ka samvad- Samvad Lekhan

गुप्ता जी : मिश्रा जी, बच्चों ने यहाँ से पाँचवी कक्षा तक तो पढ़ाई कर ली है पर अब आगे किस स्कूल में डाला जाये, मुझे तो कुछ समझ नहीं आ रहा है । कितने ही स्कूलों के चक्कर काट चूका हूँ पर कहीं भी प्रवेश नहीं मिल पा रहा है ।

मिश्रा जी : अरे, मेरे तो जूते ही घिस गए स्कूल में प्रवेश कराने के लिए । आसपास कहीं प्रवेश मिल नहीं रहा और जहाँ मिल रहा है वे स्कूल घर से बहुत दूर पड़ रहे हैं ।

गुप्ता जी : कुछ स्कूलों ने पंजीकरण की फीस ली और प्रवेश परीक्षा के लिए भी बुलाया लेकिन उनके अनुसार बच्चे प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो पाए ।

मिश्रा जी : अरे भाई, कुछ स्कूल तो गोलमोल तरीके से डोनेशन के लिए भी कह रहे थे । लेकिन, इतना पैसा कहाँ है भाई जो डोनेशन देकर स्कूल में प्रवेश कराएं ।

गुप्ता जी : आप सही कह रहे हैं । कहीं बच्चा प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण भी हो गया तो डोनेशन वाले ही मेरिट में आते हैं ।

मिश्रा जी : मुझे तो यह समझ में नहीं आता अगर होशियार या डोनेशन देने वाले बच्चों को ही प्रवेश मिलेगा तो हमारे बच्चे कहाँ जायेंगे ?

गुप्ता जी : सरकारी स्कूलों की भी स्थिति ऐसी नहीं कि बच्चों को आँख बंद करके वहाँ प्रवेश दिला दिया जाय ।

मिश्रा जी : वैसे तो सरकारी स्कूल में कोई भी पढ़ सकता है लेकिन निम्न आय वर्ग वालों की सीट घेरना भी तो सही नहीं लगता ।

गुप्ता जी : अब तो चाहे दूर के स्कूल में प्रवेश मिले मैं तो करा दूँगा । लगवा देंगे बस और क्या करेंगे ।

मिश्रा जी : मुझे भी लगता है यही करना पड़ेगा ।

यह संवाद लेखन विद्यार्थियों के लिए निम्न विषयों पर उपयोगी होगा – Samvad Lekhan, samvad lekhan meaning, samvad lekhan in hindi for class 8, samvad lekhan meaning in english, samvad lekhan in hindi for class 7, samvad lekhan format class 9, samvad lekhan marathi, shunya kachra samvad lekhan, 5 samvad lekhan, samvad lekhan in hindi for class 6, samvad lekhan in hindi for class 5, samvad lekhan in hindi for class 10

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *