श्रवण और स्रवण में अंतर – श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

Advertisement

श्रवण और स्रवण में क्या अंतर है – समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म

श्रवण का अर्थ – सुनना/कान

स्रवण का अर्थ – टपकना

श्रवण का वाक्य प्रयोग-

बूढापे में उसकी श्रवणेन्द्रयां कमजोर हो गई है।

Advertisement

स्रवण का वाक्य प्रयोग-

नल से जल स्रवण के कारण आंगन गीला हो गया है।

shravan ka arth – sunna/kaan

sravan ka arth – tapakna

Advertisement

श्रवण और स्रवण शब्द युग्म के बारे में विभिन्न परीक्षाओं में कई प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं। जैसे –

श्रवण का अर्थ, स्रवण का अर्थ, श्रवण और स्रवण में अंतर बताइये, श्रवण का वाक्य प्रयोग, स्रवण का वाक्य प्रयोग, श्रवण और स्रवण श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म में अंतर स्पष्ट कीजिये, आदि।

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

500 श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

10 Important शब्द युग्म जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

Advertisement