आखिर क्या है स्नैपचैट का विवाद और क्यों गुस्सा हैं भारतीय?

Advertisement

स्नैपचैट के सीईओ का एक बयान सामने आया है जिसमे उन्होंने कहा कि भारत और स्पेन एक गरीब देश हैं और वह अपनी कंपनी का इन देशों में विस्तार नहीं चाहते! इसके बाद से ही भारत में सोशल मीडिया पर माहौल गरम है! लोग स्नैपचैट के खिलाफ हैं और अपने अपने तरीके से विरोध कर रहे हैं !

गिरी एप्प स्टोर पर रेटिंग्स

एप्पल एप्प स्टोर पर स्नैपचैट की कस्टमर रेटिंग्स 5 स्टार से गिर कर 1 स्टार हो गयी है! वही एंड्राइड स्टोर पर 4.3 स्टार से गिर कर ४ स्टार हो गयी है!

snapchat app
स्नैपचैट को 16 करोड़ से ज्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं स्नैपचैट भारत में सबसे तेज़ी से बढ़ने वाला एप्प है जिसका मार्किट शेयर 9 प्रतिशत है!

snapchat office

स्नैपचैट के कन्फ्यूजन का नुकसान स्नैपडील को

मजे की बात ये है कि कुछ लोग स्नैपचैट के भ्रम में स्नैपडील की रेटिंग ख़राब कर रहे हैं!

Advertisement

indians on snapdeal

सोचने वाली बात ये है कि 2015 में दिया गया बयान अब क्यों सामने आया है वह भी तब जब स्नैपचैट फेसबुक को कड़ी टक्कर दे रहा है !

क्या सच में गरीब हैं भारतीय?

हकीकत ये है कि भारत वास्तव में एक गरीब देश है और यहाँ कि 15 प्रतिशत जनता $10 से कम की दिहाड़ी पर गुजर बसर करती है!

income

क्या देशभक्ति के आगे सच को ऐसे नजरअंदाज करने की जरूरत है?

हाल ही में आये एक ऑफिसियल बयान में स्नैपचैट के अधिकारीयों ने अपने सीईओ इवान स्पीगेल के ऐसे किसी भी बयान से इंकार किया

Advertisement

Advertisement