Sona (Gold) ko peele kapde mein lapet kar kyn rakhna chahiye?

प्राचीन काल से ही सोना को सम्पन्नता का भी प्रतीक माना गया है, जिसके पास जितना सोना होता है, माना जाता है, उसकी प्रतिष्ठा भी उतनी ही ज्यादा है। वक्त बदलने के साथ भले ही गहनों को लेकर लोगों की रूचि बदलती जा रही हो लेकिन सोना आज भी हर वर्ग की पहली पसन्द है और आज भी इसे न सिर्फ कीमत के तौर पर बहुमूल्य माना जाता है बल्कि धार्मिक दृष्टि से भी बेहद शुभ कहा जाता है। हिन्दुओं में तो धन की देवी महालक्ष्मी को सोने के गहनों से आच्छादित तस्वीर में दिखाया जाता है। यही वजह है कि सामान्यतः सोना काफी लोगों के घर में अवश्य ही रहता है। आज सबसे बहुमूल्य धातु में सोना सबसे जरूरी धातु है। महिलाओं के श्रृंगार में सोना सबसे महत्वपूर्ण भूमिक निभाता है। अतः महिलाओं के आभूषण रखने के लिए घर में विशेष स्थान होता है। शास्त्रों के अनुसार घर में सोना कैसे रखा जाना चाहिए, इस संबंध में एक खास बात बताई गई है।

Sona (Gold) ko peele kapde mein lapet kar kyn rakhna chahiyeसोना एक ऐसी धातु है, जो पहनने वाले के व्यक्तित्व को निखार देती है। इसे धारण करने से व्यक्तित्व आकर्षक और मनोहारी हो जाता है। ज्योतिष के अनुसार सोने का संबंध ग्रह बृहस्पति से भी है। जिस व्यक्ति के पास जितना अधिक स्वर्ण होता है। वह उतना ही धनी होता है। प्राचीन काल से स्वर्ण को सर्वाधिक महत्व दिया गया है, क्योंकि यह तब से ही सर्वाधिक मूल्यवान धातु है। इसे घर में रखने से महालक्ष्मी की कृपा भी प्राप्त होती है।

घर में सुख – समृद्धि और शांति बनाए रखने के लिए जरूरी है कि महालक्ष्मी की कृपा परिवार में बनी रहे। देवी की कृपा प्राप्त करने का एक उपाय यह भी हो कि हमारे घर में जो भी स्वर्ण है, उसे पीले कपड़े में बांधकर रखा जाना चाहिए। इससे देवी की कृपा प्राप्त होती है। साथ में देव गुरू बृहस्पति की भी प्रसन्नता बनी रहती है। यदि कुण्डली में बृहस्पति से संबंधित कोई दोष हो तो यह उपाय फायदेमंद रहता है। इसलिए यथासम्भव सोने के गहनों और दूसरी वस्तुओं पीत वस्त्र यानी पीले वस्त्र में बांधकर रखन चाहिए।

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
Ritu
ऋतू वीर साहित्य और धर्म आदि विषयों पर लिखना पसंद करती हैं. विशेषकर बच्चों के लिए कविता, कहानी और निबंध आदि का लेखन और संग्रह इनकी हॉबी है. आप ऋतू वीर से उनकी फेसबुक प्रोफाइल पर संपर्क कर सकते हैं.